TPL_GK_LANG_MOBILE_MENU

Deprecated: Non-static method JApplicationSite::getMenu() should not be called statically, assuming $this from incompatible context in /home/mediabhadas/news/templates/gk_news/lib/framework/helper.layout.php on line 181

Deprecated: Non-static method JApplicationCms::getMenu() should not be called statically, assuming $this from incompatible context in /home/mediabhadas/news/libraries/cms/application/site.php on line 266

User Rating: 0 / 5

Star inactiveStar inactiveStar inactiveStar inactiveStar inactive
 

दिल्ली से खबर है. एक बाप ने अपनी बेटी को इसलिए मार डाला क्योंकि वह रात-रात भर लड़कों के साथ घूमती थी. अपनी बेटी का चाल-चलन बाप को पसंद नहीं था. दरअसल पुलिस को रोहिणी के सेक्टर-24 में पाकेट-छह के पार्क में तीन दिन पहले एक युवती की लाश मिली थी. इस अ‌र्द्धनग्न शव के मिलने के बाद सनसनी मच गई.

 

पुलिस ने अब हत्या का कारण पता कर लिया है और आरोपी बाप को अरेस्ट भी कर लिया है. पुलिस का कहना है कि युवती की हत्या उसके पिता ने गलत चाल-चलन से दुखी होकर की थी. बेगमपुर थाना पुलिस ने हत्या के आरोपी विष्णु बहादुर थापा को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही पुलिस ने युवती का मोबाइल व वारदात में इस्तेमाल लोहे की छड़ भी बरामद की है.

बाहरी जिला पुलिस उपायुक्त भोला शंकर जायसवाल के मुताबिक आठ जुलाई को लाश मिलने के बाद पुलिस ने युवती की फोटो खिंचवाकर आसपास रहने वाले नेपाल निवासियों से उसकी पहचान कराई. युवती की पहचान रोहिणी सेक्टर 24 पाकेट छह निवासी शांती (18) के रूप में हुई. इसके बाद पुलिस ने शक के आधार पर युवती के पिता विष्णु बहादुर थापा, मां सीता, भाई शंभू से सख्त पूछताछ शुरू की तो विष्णु ने हत्या की बात कबूल कर ली.

विष्णु ने बताया कि उसकी बेटी की गलत आदतों से वह परेशान रहता था. उसने कई बार बेटी को ऐसा करने से मना भी किया था. मना करने पर वह झगड़ा करने को उतारू हो जाती थी. पांच जुलाई की रात साढ़े दस बजे वह घर की छत पर सो रही थी. उसने बेटी से घर में सोने को कहा तो उसने ईट से वार कर दिया. गुस्से में विष्णु ने बेटी को थप्पड़ जड़ दिया. इससे युवती की नाक से खून बहने लगा था और वह बेहोश होकर गिर पड़ी. बाद में विष्णु ने शांती के सिर पर पत्थर दे मारा था.

घायल होने के बाद भी उसने लोहे की छड़ से शांती की पिटाई की थी, जिससे शांती की मौके पर ही मौत हो गई थी. मरने के बाद उसने शव को इलाके के सुनसान पार्क में फेंक दिया था. आरोपी मजदूरी करता है और उसके चार बेटे और तीन बेटी हैं. पिता विष्णु ने बताया कि उसकी बेटी अक्सर रात-रात भर गायब रहती थी और लड़कों के साथ घूमती थी. इससे वह बेहद परेशान था और उसे हर तरह से समझाने-बुझाने का प्रयास करता था पर वह कहना नहीं मानती थी और अपनी मनमर्जी करती रहती थी. इसी से आजिज आकर उसने क्रोध में मार डाला.

सर्वाधिक लोकप्रिय पोस्ट

Follow Us>      Facebook         Twitter         Google+