TPL_GK_LANG_MOBILE_MENU

Deprecated: Non-static method JApplicationSite::getMenu() should not be called statically, assuming $this from incompatible context in /home/mediabhadas/news/templates/gk_news/lib/framework/helper.layout.php on line 181

Deprecated: Non-static method JApplicationCms::getMenu() should not be called statically, assuming $this from incompatible context in /home/mediabhadas/news/libraries/cms/application/site.php on line 266

User Rating: 0 / 5

Star inactiveStar inactiveStar inactiveStar inactiveStar inactive
 

मोतीलाल नेहरु की ऐतिहासिक महत्ता से हम सभी परिचित हैं लेकिन यह हममे से कोई नहीं जानता कि उनका जन्म अपने पिता की मृत्यु के ग्यारह माह बाद हुआ था. पिता की मृत्यु के ग्यारह माह बाद संतान की उत्पत्ति संभव नहीं है, लेकिन जो भी व्यक्ति इंटरनेट आधारित मुक्त ज्ञानकोष विकिपीडिया पर मोतीलाल नेहरु से जुड़ा पृष्ठ (http://en.wikipedia.org/wiki/Motilal_Nehru) खोल कर पढ़ेगा तो उसे यही जानकारी मिलेगी. आज जब हम, अमिताभ ठाकुर और नूतन ठाकुर विकिपीडिया पर पेज देख रहे थे तो हम भी ग्यारह माह वाली बात देख कर एकदम से चौंक पड़े.


फिर हमने इस पृष्ठ के बनने की हिस्ट्री का अध्ययन किया तो पाया कि यह पृष्ठ किसी एकअभिषेक कोड वाले व्यक्ति द्वारा 28 जुलाई 2011 को समय 12:26 पर प्रारम्भ किया गया था. पुनः 16:10 पर उसी व्यक्ति द्वारा यह तथ्य जोड़ा गया कि मोतीलाल नेहरु का जन्म अपने पिता गंगाधर नेहरु की मृत्यु के तीन माह बाद हुआ था. बाद में  28 दिसंबर 2011‎को 08:38 बजे किसी लवीसिंघल कोड वाले व्यक्ति ने इस तथ्य को बदल कर तीन माह की जगह ग्यारह माह अंकित कर दिया गया, जिसके कारण यह अजीबोगरीब तथ्य अभी भी विकिपीडिया पर अंकित है.

हम इसे लवीसिंघल का एक घृणित और आपत्तिजनक कृत्य मानते हैं और हमने एक मृत सम्मानित व्यक्ति की प्रतिष्ठा से खिलवाड़ करने वाले इस लवीसिंघल का पता लगा कर उनके विरुद्ध कार्यवाही करने के लिए गृह सचिव, भारत सरकार को पत्र प्रेषित किया है. साथ ही यह प्रकरण अपने आप में विकिपीडिया जैसे इंटरनेट आधारित ज्ञान के स्रोतों की सत्यनिष्ठ और उपादेयता पर भी प्रश्नचिह्न लगाता है क्योंकि आज बहुधा लोग विकिपीडिया पर लिखी बातों को पूर्ण सत्य मान कर चलने की आदत बना चुके हैं. ऐसे में कितनी आसानी से तथ्यों से खिलवाड़ किया जा सकता है, यह इस प्रकरण से देखा जा सकता है.

डॉ. नूतन ठाकुर
सचिव
आईआरडीएस, लखनऊ

 

सर्वाधिक लोकप्रिय पोस्ट

Follow Us>      Facebook         Twitter         Google+