TPL_GK_LANG_MOBILE_MENU

Latest >>>>

मन में अभी भी काम-वासना उठती है इसलिए स्त्रियां मिलें तो कैसा व्यवहार करें

07-05-2016 Hits:9 ये दुनिया Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

मन में अभी भी काम-वासना उठती है इसलिए स्त्रियां मिलें तो कैसा व्यवहार करें

बुद्ध ने कहा है, कि न कोई परमात्मा है, न कोई आकाश में बैठा हुआ नियंता है। तो साधक क्या करें? तो बुद्ध ने कहा है, होश से चले, होश से बैठे, होश से उठे। बुद्ध का एक भिक्षु आनंद पूछने लगा; वह एक यात्रा पर जा रहा था और उसने पूछा कि भगवान, कुछ मुझे पूछना है। स्त्रियों के संबंध में मन में अभी भी काम-वासना उठती है; तो स्त्रियां मिल जाएं तो उनसे कैसा व्यवहार करना? तो बुद्ध ने कहा, “स्त्रियां अगर मिल जाएं तो बचकर चलना। दूर से निकल जाना।” आनंद ने कहा, “और अगर ऐसी स्थिति आ जाए...

Read more

कार्ल मार्क्स को सिर्फ उनकी किताबों के जरिए समझने वाले अक्सर दुराग्रही हो जाते हैं

07-05-2016 Hits:7 ये दुनिया चंद्रभूषण - avatar चंद्रभूषण

Chandra Bhushan : कार्ल मार्क्स को पढ़ना कठिन जरूर है लेकिन अगर आप लिखने-पढ़ने से कुछ वास्ता रखते हैं तो उन्हें मूल रूप में पढ़ने की कोशिश करें। आप कितने भी ज्ञानी हों, दिमाग का दही हो जाएगा। लेकिन एक बार बात समझ में आने लगी तो सतह पर मौजूद हल्ले के नीचे की गहरी बातें जानने-समझने की आदत पड़ जाएगी। एक दौर था, जब मैंने लंगोट बांधकर उनकी कई सारी किताबें एक के बाद एक पढ़ डाली थीं। इस काम में गणित की पढ़ाई के दौरान हासिल तर्कपद्धति ने मेरी काफी मदद की थी, लेकिन यह कहना होगा कि...

Read more

कोलकाता में हिंदी व जनसंचार से एमए करने हेतु प्रवेश के लिए 31 मई तक करें आवेदन

07-05-2016 Hits:6 बिजनेस Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

कोलकाता : नैक द्वारा ए ग्रेड प्राप्त महात्माव गांधी अंतरराष्ट्री य हिंदी विश्वतविद्यालय के कोलकाता केंद्र में सत्र 2016-17 के लिए एमए हिंदी और एमए जनसंचार में प्रवेश के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 मई 2016 है। एमए जनसंचार व एमए हिंदी के अलावा एमए शांति व विकास तथा एनजीओ मैनेजमेंट में डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी कोलकाता केंद्र में इस वर्ष से प्रारंभ किए गए हैं और उनके लिए भी आवेदन मांगे गए हैं। एमए हिंदी, एमए जनसंचार, एमए शांति व विकास तथा एनजीओ मैनेजमेंट में डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवेदन पत्र ऐकतान, आईए 290, सेक्टर-3, साल्टलेक...

Read more

दिल्ली, डीजल, मुनाफा, जनसत्ता के वो दिन और ये बेइमान नेता

07-05-2016 Hits:6 प्रदेश संजय कुमार सिंह - avatar संजय कुमार सिंह

Sanjaya Kumar Singh : योजना आयोग के साथ और उसके बिना... बहुत पुरानी बात है, कुछ लोग दिल्ली आए हुए थे और वापस जाने की उनकी ट्रेन पुरानी दिल्ली से थी। रास्ता एकसप्रेस बिल्डिंग होकर था और तय हुआ था कि मैं एक्सप्रेस बिल्डिंग से उनलोगों के साथ गाड़ी में सवार होकर स्टेशन जाउंगा और ट्रेन में बैठाकर वापस आ जाउंगा। चूंकि छोड़ने वाली गाड़ी को इसी रास्ते वापस लौटना था इसलिए मुझे उसी से वापस एक्सप्रेस बिल्डिंग आ जाना था। उस दिन ड्यटी क्या थी वह सब अब याद नहीं है पर उन दिनों हमलोग कहीं से भी घूम-फिर...

Read more

यूपी में मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव जैसे पदों पर बैठे लोग फर्जी अभिलेख बनाते हैं, इन्हें दंडित कराऊंगा : अमिताभ ठाकुर

05-05-2016 Hits:57 प्रदेश अमिताभ ठाकुर - avatar अमिताभ ठाकुर

Amitabh Thakur : कैट के आदेश के बाद भी मेरी बहाली नहीं करने के सम्बन्ध में मेरे द्वारा दायर याचिका पर कैट ने प्रमुख सचिव गृह देबाशीष पांडा के खिलाफ अवमानना नोटिस जारी किया है. जिन बड़े-बड़े आईएएस अफसरों ने राजनैतिक आका को खुश करने के लिए मेरे मामलों में फर्जी अभिलेख बनाने का घिनौना काम किया, उनके सबूत अब मेरे हाथ में हैं और अपनी आदत के मुताबिक मैं उनकी जिम्मेदारी तय कराने में लग चुका हूँ. निजी फायदों के लिए कितना गिरेंगे ये घिनौने सफेदपोश नौकरशाह!

Read more

अपने मालिक से कुछ क्यों नहीं मांगते पत्रकार, सरकार के आगे कटोरा लिए क्यों खड़े रहते हैं?

05-05-2016 Hits:60 ये दुनिया अरुण श्रीवास्तव - avatar अरुण श्रीवास्तव

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर : एक पराडकर जी हुआ करते थे। अखबार के ही काम से गए लेकिन काशी नरेश का आतिथ्य स्वीकार नहीं किया। एक आज के पत्रकार हैं। वे अपने निजी काम के लिए भी सूचना विभाग की गाड़ी के ऐड़ी चोटी का जोर लगा देंगे। बच्चे को जिले के नामी गिरामी स्कूल में दाखिला दिलवाने का मामला हो या फीस माफ करवाने का, सारे घोड़े खोल डालेंगे। एक कहावत है भ्रष्टाचार रूपी गंगोत्री ऊपर से नीचे को बहती है। यह फार्मूला अखबार या यूं कहें मीडिया पर पूरी तरह से लागू होता है। पहले छोटे अखबार...

Read more

अखिलेश सरकार के बाद NGT ने JP GROUP को दिया झटका, 2500 एकड़ वनभूमि वापस लेने का दिया आदेश

04-05-2016 Hits:45 ये दुनिया शिव दास - avatar शिव दास

प्राधिकरण ने खारिज की उत्तर प्रदेश सरकार की अधिसूचना.... मामले में दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने का भी दिया आदेश... नई दिल्ली। सोनभद्र में वनभूमि हस्तांतरण मामले में उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार के बाद राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने भी जेपी समूह को झटका दिया है। उत्तर प्रदेश की पूर्ववर्ती बसपा सरकार द्वारा सोनभद्र में जेपी समूह की सहयोगी कंपनी जयप्रकाश एसोसिएट्स लिमिटेड (जेएएल) के पक्ष में 1083.231 हेक्टेयर (करीब 2500 एकड़) वनभूमि को हस्तांतरित करने के लिए जारी अधिसूचना को एनजीटी ने आज खारिज कर दिया। साथ ही उसने राज्य सरकार को आदेश दिया कि वह जल्द से...

Read more

चुनावों में हेयर डाई, शैंपु या फिर गोरा बनाने वाली क्रीम की तर्ज पर तय होगा देश और जनता का भविष्य!!

04-05-2016 Hits:53 ये दुनिया आज़ाद ख़ालिद - avatar आज़ाद ख़ालिद

चुनावी वादों के बावजूद आपके एकाउंट में अब तक 15 लाख रुपए क्यों नहीं आए..? क्या कालाधन विदेशों से वापस आ गया..? एक सिर के बदले कई पाकिस्तानियों के सिर लाए जाने लगे..? क्या धारा 370 हटा दी गई..?  कुछ इसी तरह के दूसरे कई सवालों के जवाब बिल्कुल ऐसे हैं जैसे कि गोरा करने की क्रीमों के इतने विज्ञापनों के बावजूद मिशेल ओबामा और विलियम बहने अब तक काली क्यों हैं...? और बालों को झड़ने से रोकने वाले इतने तमाम शैंपुओं के विज्ञापनों की मौजूदगी में अनुपम खेर और गोरवाचौफ के सिर बाल कहां चले गये?

Read more

पदोन्नति में आरक्षण की बहाली हेतु संविधान संशोधन ज़रूरी

04-05-2016 Hits:91 विविध एस.आर.दारापुरी - avatar एस.आर.दारापुरी

गत वर्ष उत्तर प्रदेश सरकार ने शासनादेश द्वारा पदोन्नति में आरक्षण और परिणामी ज्येष्ठता के आधार पर 15/11/97 के बाद और 28/4/12 के पूर्व पदोन्नति पाए सभी दलित अधिकारीयों/कर्मचारियों को उनके मूल पद पर पदावनत करने का आदेश जारी किया था. शासनादेश में कहा गया था कि उक्त कार्रवाही सुप्रीम द्वारा एम नागराज के मामले में दिए गए निर्णय के अनुपालन में की जा रही है. इसी प्रकार की कार्रवाही देश के अन्य प्रान्तों में भी की गयी है. आइये सब से पहले यह देखें कि 2006 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा एम नागराज के मामले में क्या दिशा निर्देश दिए...

Read more

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी द्वारा लखनऊ में ’RTI भवन’ के उद्घाटन का विरोध करेंगे समाजसेवी

04-05-2016 Hits:96 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की सरकार ने सरकारी खजाने से लगभग 25 करोड़ की भारी-भरकम रकम खर्च करके राज्य सूचना आयोग के लिए सभी अत्याधुनिक सुख-सुविधाओं से लैस बिल्डिंग बना तो दी और इसे ‘RTI भवन’ का एक अच्छा सा नाम भी दे दिया पर लगता है कि उद्घाटन को लेकर इस  ‘RTI भवन’ की किस्मत कुछ ठीक नहीं है l  पहले इस ‘RTI भवन’ का उद्घाटन सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के हाथों बीते 11 अप्रैल को  होना था पर सूचना आयुक्तों की कार्यप्रणाली से क्षुब्ध आरटीआई कार्यकर्ताओं  द्वारा उसी दिन ‘RTI भवन’ के मुख्य द्वार के सामने सभी...

Read more

मजदूर दिवस पर आईएफडब्लूजे प्रतिनिधिमंडल ने लखनऊ में सौंपा श्रम मंत्री को ज्ञापन

04-05-2016 Hits:30 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में कार्यरत मीडियाकर्मियों के वेतन और अन्य सुविधाओं के लिए जल्दी ही प्रभावी कदम उठाए जाएंगे। मजीठिया वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू किए जाने पर उत्तर प्रदेश की स्थिति की रिपोर्ट जल्दी ही तैयार कर सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की जाएगी। उत्तर प्रदेश के श्रम मंत्री शाहिद मंजूर ने मजदूर दिवस के मौके पर इंडियन फेडरेशन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट (आईएफडब्लूजे) के प्रतिनिधि मंडल को यह आश्वासन देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार मीडिया कर्मियों को स्वास्थ सुविधाएं दिए जाने को लेकर भी उचित कदम उठाएगी।

Read more

मोदी गो बैक का नारा लगाने के कारण बीबीएयू के मेस में नान वेज हुआ प्रतिबंधित!

04-05-2016 Hits:51 दुख-सुख Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

संघ बताए मछली वेज या नानवेज, अगर वाजपेयी नान-वेज खा सकते हैं तो फिर दलित छात्र क्यों नहीं, नान वेज खाने वाले देशों से आर्थिक सम्बंध क्यों नहीं तोड़ लेते मोदी लखनऊ । रिहाई मंच ने बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर सेंट्रल यूनिवर्सिटी (बीबीएयू) की मेस में नानवेज प्रतिबंधित करने को बीबीडीयू के दलित छात्रों द्वारा कुछ दिनों पहले रोहित वेमुला का सवाल उठाने और मोदी की मौजूदगी में मोदी गो बैक का नारा लगाने के चलते नाराज मोदी सरकार द्वारा की गई कुंठित और बदले की कार्रवाई बताया है। मंच ने जेएनयू के छात्रों  द्वारा छात्रों के निलम्बन के खिलाफ चलाए...

Read more

बुद्ध के ऊपर जान का ख़तरा नहीं था जबकि मुहम्मद को अपनी जान बचाने के लिए जूझते रहना पड़ा

26-04-2016 Hits:451 ये दुनिया ताबिश सिद्दीकी - avatar ताबिश सिद्दीकी

Tabish Siddiqui : क़ुरआन की पहली आयत नाज़िल होने के बाद क़रीब बारह (12) साल तक पैग़म्बर मुहम्मद ने लोगों को समझाने का काम किया.. बारह साल तक वो लोगों की गालियां खाते रहे.. पत्थर और लकड़ियों से उन पर हमला होता जहाँ भी वो अपनी बात कहते.. ऊंट के मूत्र भरे हुवे मूत्राशय और मलाशय को उन पर फेंका जाता.. लगभग ये रोज़ की बात हो गयी थी बारह सालों तक.. मुहम्मद घर से निकलते और वापस आते तो खून से लहूलुहान होते थे और पेशाब और मल से लथपथ.. और वापस आने पर उनसे पंद्रह साल बड़ी बीबी...

Read more

मायावती को कन्हैया पर गुस्सा क्यों आता है?

25-04-2016 Hits:355 ये दुनिया एस.आर. दारापुरी - avatar एस.आर. दारापुरी

हाल में 14 अप्रैल को लखनऊ में आंबेडकर जयंती के अवसर पर सर्वजन की रैली को संबोधित करते हुए मायावती ने जेएनयू के कन्हैया कुमार पर अपना गुस्सा दिखाया और दलितों को उस से सावधान रहने के लिए कहा. उस ने कन्हैया के बारे में मुख्यतया चार बातें कहीं: (1) कन्हैया दलित नहीं भूमिहार है (2) कन्हैया अम्बेडकरवादी नहीं कम्युनिस्ट है (3) कन्हैया लाल सलाम और नीला सलाम को मिला कर दलितों को धोखा देना चाहता है तथा (4) कन्हैया जय भीम का नारा लगा कर दलितों को गुमराह करना चाहता है. इससे स्पष्ट है कि मायावती को अपने को...

Read more

मुलायम सिंह यादव ने जेपी समूह को वन विभाग की 2500 एकड़ ज़मीन का किया अवैध आवंटन!

25-04-2016 Hits:173 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

सीबीआई जांच की मांग, भूमि पर किये खनन से हुयी हानि की भरपाई जेपी समूह से करायी जाये लखनऊ : जेपी समूह को वर्ष 2006 में मुलायम सिंह सरकार द्वारा वन विभाग की 2500 एकड़ भूमि के अवैध अवैध आवंटन  के मामले की हो सीबीआई जाँच” यह मांग आज एस.आर.दारापुरी भूतपूर्व आई.जी. तथा राष्ट्रीय प्रवक्ता, आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में उठाई है. उन्होंने आगे कहा है कि उक्त भूमि मुलायम सिंह सरकार द्वारा वर्ष 2006 में सोनभद्र स्थित यूपी सीमेंट कारपोरेशन के दिवालिया होने पर जेपी समूह को बेचते समय दी गयी थी.

Read more

जिस पल मौत दिख जाए, फिर मन में पाप नहीं उठता

25-04-2016 Hits:120 ये दुनिया ओशो - avatar ओशो

जिस पल मौत दिख जाए, फिर मन में पाप नहीं उठता

एकनाथ के जीवन में ऐसा उल्लेख है। एक युवक एकनाथ के पास आता था। जब भी आता था तो वह बड़ी ऊंची ज्ञान की बातें करता था। एकनाथ को दिखाई पड़ता था, वे ज्ञान की बातें सिर्फ अज्ञान को छिपाने के लिए हैं। एक दिन उसने एकनाथ को पूछा सुबह - सुबह कि एक संदेह मेरे मन में सदा आपके प्रति उठता है। आपका जीवन ऐसा ज्योतिर्मय, ऐसा निष्कलुष, ऐसी कमल की पंखडियों जैसा निर्दोष क्वांरा, लेकिन कभी तो आपके जीवन में भी पाप उठे होंगे? कभी तो अंधेरे ने भी आपको घेरा होगा? कभी आपकी जिंदगी में भी कल्मष...

Read more

नीतीश कुमार अगर यूपी में दस्तक देते हैं तो भाजपा को फायदा पहुंचाएंगे!

25-04-2016 Hits:224 ये दुनिया अजय कुमार - avatar अजय कुमार

अजय कुमार, लखनऊ       बिहार में भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मंसूबों पर पानी फेरने के बाद अपने आप को केन्द्रीय राजनीति में फिट करने को आतुर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अपने लिये बिहार और सीएम का पद छोटा लगने लगा है। भले ही नीतीश न-न कर रहे हों लेकिन हकीकत यही है कि वह बिहार से निकल पर पूरे देश में और मुख्यमंत्री से आगे प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं। इसके लिये उन्हें यूपी जीतना जरूरी है। यूपी में 2019 के लोकसभा से पहले  2017 में विधान सभा चुनाव होने हैं। नीतीश उत्तर...

Read more

मूर्ति एक डिवाइस है अशरीरी आत्माओं से संबंध स्थापित करने के लिए

25-04-2016 Hits:140 ये दुनिया ओशो - avatar ओशो

मूर्ति एक डिवाइस है अशरीरी आत्माओं से संबंध स्थापित करने के लिए

मूर्तियों का प्राचीनतम उपयोग .... मूर्ति पर अगर कोई बहुत देर तक चित्त एकाग्र करे और फिर आंख बंद कर ले तो मूर्ति का निगेटिव आंख में रह जाएगा, जैसा कि कैमरे की फिल्म पर रह जाता है। और उस निगेटिव पर भी ध्यान अगर केंद्रित किया जाए तो उसके बड़े गहरे परिणाम हैं।

Read more

दो देहों के बीच संबंध यांत्रिक है, सेक्स यांत्रिक है, कामवासना यांत्रिक है

25-04-2016 Hits:401 दुख-सुख ओशो - avatar ओशो

दो देहों के बीच संबंध यांत्रिक है, सेक्स यांत्रिक है, कामवासना यांत्रिक है

आखिर तंत्र विज्ञान है क्या ....  अक्षर से क्षर की यात्रा यंत्र, क्षर से अक्षर की यात्रा मन्त्र, अक्षर से अक्षर की यात्रा तंत्र। देह है यंत्र। दो देहों के बीच जो संबंध होता है वह है यांत्रिक। सेक्स यांत्रिक है। कामवासना यांत्रिक है। दो मशीनों के बीच घटना घट रही है। मन है मंत्र। मंत्र शब्द मन से ही बना है। जो मन का है वही मंत्र। जिससे मन में उतरा जाता है वही मंत्र। जो मन का मौलिक सूत्र है वही मंत्र। तो देह है यंत्र। देह से देह की यात्रा यांत्रिक - कामवासना।

Read more

रामकृष्ण परमहंस को मरने के पहले गले का कैंसर हो गया था

25-04-2016 Hits:331 ये दुनिया ओशो - avatar ओशो

रामकृष्ण परमहंस को मरने के पहले गले का कैंसर हो गया था

रामकृष्ण परमहंस को मरने के पहले गले का कैंसर हो गया। तो बड़ा कष्ट था। और बड़ा कष्ट था भोजन करने में, पानी भी पीना मुश्किल हो गया था। गले से कोई भी चीज ले जाना कष्ट था। घाव था। तो विवेकानंद ने एक दिन रामकृष्ण को कहा, कि इतनी पीड़ा शरीर को हो रही है। आप जरा मां को क्यों नहीं कह देते? जगत जननी को जरा कह दो। तुम्हारा वह सदा से सुनती रही है। इतना ही कह दो, कि गले को इतना कष्ट क्यों दे रही हो? फिर भोजन की असुविधा हो गई है।

Read more

जैनी आज उन्हीं पापों की गठरी ढो रहे जिनसे विरत रहने के लिए महावीर स्वामी ने कहा था

25-04-2016 Hits:313 दुख-सुख मुकेश कुमार - avatar मुकेश कुमार

Mukesh Kumar : जैनियों ने महावीर स्वामी के साथ ज़बर्दस्त विश्वासघात किया है। जैसा कि इतिहास सिद्ध है, वे नास्तिक थे और शुरू में जैन धर्म भी नास्तिक ही था। अहिंसा, अस्तेय, अपरिग्रह, अचौर्य जैसे सिद्धांतों पर उनका ज़ोर था। चलिए मान लिया कि उनकी तरह दिगम्बर होकर कठिन साधना करना सबके लिए मुश्किल काम है, मगर जैन और भी तो बहुत कुछ कर सकते थे लेकिन वे उसी तरह पाखंडी है गए जैसे दूसरे धर्मों के अनुयायी। वे आज उन्हीं पापों की गठरी ढो रहे हैं जिनसे विरत रहने के लिए महावीर ने कहा था।

Read more

मौजूदा मोदी सरकार में इतनी भी हिम्मत नहीं....

25-04-2016 Hits:194 ये दुनिया दयाशंकर शुक्ल सागर - avatar दयाशंकर शुक्ल सागर

Daya Sagar : तो आप देखिए भारत सरकार ने चीनी एक्टविस्ट डोल्कुन ईसा का वीजा रद कर दिया। चीन भारत के इस कदम का विरोध कर रहा था। ईसा साहब आजादी और लोकतंत्र पर हमारे धर्मशाला में होने वाली एक कान्फ्रेंस में हिस्सा लेने आ रहे थे। लेकिन चीन की नजर में ईसा आतंकवादी हैं जैसे उसकी नजर में दलाईलामा एक आतंकी नेता हैं। ईसा को वीजा मिलने का सबसे ज्यादा विरोध हमारे कामरेड दोस्त कर रहे थे जो रात दिन- लेकर रहेंगे आजादी- का कोरस गाते हैं। बताते चलें कि आतंकी ईसा पर कत्लो गारत का आज तक कोई...

Read more

मैं गढ़वाल छोड़ कर प्रयाग न जाता, तो शायद ब्लॉक प्रमुख भी न बन पाता : हेमवती नंदन बहुगुणा

25-04-2016 Hits:358 ये दुनिया राजीव नयन बहुगुणा - avatar राजीव नयन बहुगुणा

Rajiv Nayan Bahuguna : आज भारत के एक अतिशय महत्वाकांक्षी, चतुर, सुयोग्य एवं अवसरवादी राजनेता रह चुके हेमवती नन्दन बहुगुणा जीवित होते तो 97 वर्ष के होते। लेकिन 100 वर्ष तक जीवित रह पाना सिर्फ गुलजारी लाल नन्दा अथवा मोरारजी देसाई जैसे संयमी एवं संतोषी नेता के ही वश में होता है, बहुगुणा जैसों के नहीं। जब डॉक्टरों ने उन्हें सलाह दी की 69 वर्ष की पक्व आयु में दिल का ऑपरेशन कराने की बजाय उन्हें दवाओं के भरोसे रहना अधिक सुरक्षित रहेगा, बशर्ते वह दौड़ भाग कम और आराम अधिक करें। इस पर हेमवती बाबू का जवाब था कि...

Read more

कुछ रह तो नहीं गया...

25-04-2016 Hits:74 सोशल मीडिया Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

"अरे सब सामान ले लिया क्या? बस में किसी का कुछ रह तो नहीं गया? "जी सर, सब ले लिया।" स्कूल ट्रिप से वापिस आये सब बच्चे एक साथ चिल्लाये और बस से उतरकर घर की तरफ दौड़ गए।"सर, फिर भी बस में देख लेना।"

Read more

'परिषद साक्ष्य' का जेपी अंक यानी संपूर्ण क्रान्ति के नायक को नया हुंकार देती पत्रिका

25-04-2016 Hits:251 विविध शहंशाह आलम - avatar शहंशाह आलम

इस सच से इनकार नहीं किया जा सकता कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण की 'संपूर्ण क्रान्ति' देश की आत्मा और देश की चेतना में अब भी पूरी तरह पैवस्त है। बिहार का सन् 1974 का छात्र-आंदोलन व्यवस्था-परिवर्तन के लिए जयप्रकाशजी की ललकार पर किए गए विश्व भर के उन आंदोलनों जैसा ही था, जोकि सफ़ल हुए थे। यह एक ऐसा अद्भुत आंदोलन था, जिसने लालू प्रसाद, नीतीश कुमार, सुशील कुमार मोदी तथा प्रो. जाबिर हुसेन जैसे नेताओं को भी जन्म दिया, जो जयप्रकाशजी के विचारों को आज भी स्पष्ट और सार्थक तरीक़े से ज़िंदा रखे हुए हैं।

Read more

मोदी सरकार के 'अच्छे दिनों' की उपलब्धियों को अब सिनेमा हालों में भी झेलिए

25-04-2016 Hits:148 बिजनेस Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

नई दिल्ली : केंद्र सरकार की सभी योजनाओं के साथ जल्द ही ‘प्रधानमंत्री’ या राष्ट्रवादी नेताओं के नाम जुड़ सकते हैं और प्रत्येक थिएटर में फिल्मों के प्रदर्शन से पहले नरेंद्र मोदी सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताने वाले वृत्तचित्रों को अनिवार्य रूप से दिखाया जा सकता है। राज्यों और जिलों में केंद्र सरकार की योजनाओं तथा उपलब्धियों के बारे में बताने के लिए उपाय सुझाने की खातिर गठित मंत्री समूह ने केंद्रीय योजनाओं के साथ ‘प्रधानमंत्री’ तथा अन्य राष्ट्रवादी नेताओं के नाम जोड़ने और सरकार की उपलब्धियों के बारे में फिल्मों के प्रदर्शन से पहले वृत्तचित्र दिखाए जाने...

Read more

ब्रांड प्रतीकों के सहारे चलती सरकार

19-04-2016 Hits:273 ये दुनिया डॉ. संजय सिंह बघेल  - avatar डॉ. संजय सिंह बघेल

गुडगाँव का नाम रातोरात बदलकर जिस तरह गुरुग्राम कर दिया गया. यह कोई महज संयोग नहीं है. इसके पीछे के राजनैतिक मंसूबे तभी स्पस्ट हो गए थे. जब भाजपा सरकार ने पार्टी से ऊपर करके “अबकी बार मोदी सरकार” का नारा स्वीकार कर लिया. यह बात भी किसी से छुपी नहीं है कि भाजपा की लगाम जिस अदृश्यमान लेकिन सबको पता शक्ति के हाथ में है उसका मुख्य मकसद रास्ट्रवादी और स्वदेशी सरकार को स्थापित करना है. अनायास नहीं है कि जिस कार्पोरेटस और मीडिया मुग़लों के सहारे सत्ता तक पहुंची भाजपा सरकार, जिस तरह से एक-एक करके अपने छुपे...

Read more

भारत में साठ प्रतिशत गिरफ्तारियां अनावश्यक हो रही हैं

19-04-2016 Hits:345 दुख-सुख मनीराम शर्मा  - avatar मनीराम शर्मा

भारतीय न्याय व्यवस्था पर श्वेत-पत्र उदारीकरण से देश में सूचना क्रांति, संचार, परिवहन, चिकित्सा आदि क्षेत्रों में सुधार अवश्य हुआ है किन्तु फिर भी आम आदमी की समस्याओं में बढ़ोतरी ही हुई है| आज भारत में आम नागरिक की जान-माल-सम्मान तीनों ही सुरक्षित नहीं हैं| ऊँचे लोक पदधारियों को सरकार जनता के पैसे से सुरक्षा उपलब्ध करवा देती है और पूंजीपति लोग अपनी स्वयं की ब्रिगेड रख रहे हैं या अपनी सम्पति, उद्योग, व्यापार की सुरक्षा के लिए पुलिस को मंथली, हफ्ता या बंधी देते हैं| छोटे व्यावसायी संगठित रूप में अपने सदस्यों से उगाही करके सुरक्षा के लिए पुलिस को...

Read more

जय श्री राम, भारत माता की जय, वन्दे मातरम की जगह अब जय भीम

17-04-2016 Hits:346 बिजनेस राकेश भदौरिया - avatar राकेश भदौरिया

अम्बेडकर नाम की लूट है लूट पाये सो लूट.... अम्बेडकर और दलित प्रेम बना राजनीतिक दलों के लिए संजीवनी... लगता है कि पहली बार संघ और भाजपा के चिंतकों ने वृहद राजनीतिक सोच के तहत दलित वर्ग में अपना राजनीतिक भविष्य तलाशने के लिए डॉ० भीम राव अम्बेकर पर अपना होम वर्क जोर-शोर से शुरू कर दिया है। संघ प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण की पुनः समीक्षा वाले बयान से हुए राजनीतिक नुकसान की पूरे देश में भरपाई और ख़ास तौर से उत्तर प्रदेश में आगामी विधान सभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए संघ और बीजेपी के रणनीतिकारों ने श्री...

Read more

समान अवसर के लिये समान शिक्षा की जरुरत

17-04-2016 Hits:81 दुख-सुख अश्विनी उपाध्याय  - avatar अश्विनी उपाध्याय

लोक कल्याण ही लोकतंत्र का मुख्य उद्देश्य है ! संविधान की प्रस्तावना में भी स्पस्ट किया गया है कि भारत एक सोशलिस्ट सेक्युलर डेमोक्रेटिक रिपब्लिक है ! सरकार का मुख्य कर्तब्य है कि वह संविधान की प्रस्तावना में वर्णित उदेश्य – सामाजिक-आर्थिक न्याय, सामजिक-आर्थिक समानता और सबको समान अवसर सुनिश्चित करने के लिये आवश्यक कदम उठाये ! आज शिक्षा का व्यापारीकरण हो गया है ! परिवार के  आर्थिक हालत के अनुसार  स्कूल की पांच केटेगरी बन गयी है ! लोअर इनकम ग्रुप, मिडिल इनकम ग्रुप, हायर इनकम ग्रुप और इलीट ग्रुप और सरकारी स्कूल, जहाँ गरीबी रेखा से नीचे जीवन...

Read more

Petition for time-bound submission of property return as per Lokpal Act

17-04-2016 Hits:254 बिजनेस Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

IPS officer Amitabh Thakur today filed a Writ petition in Lucknow bench of Allahabad High Court with prayer to direct the Central government not to extend the date for submission of property returns of central government employees, including IAS and IPS officers any further and to ensure that all these public servants submit their property return within time.

Read more

कोबरा पोस्ट ने नीतीश कुमार के आवास पर सोलर पावर लगाने में तीन करोड़ के घोटाले का खुलासा किया

14-04-2016 Hits:236 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

Solar power scam reaches Bihar's "Sushashan babu" Chief Minister's doorstep, Cobrapost brings to light a Rs 3 crore scam regarding purchasing of solar lamps for Bihar Chief Minister Nitish Kumar’s residence, involving state government officials By Md Hizbullah Another solar scam in Bihar has come to light following an RTI petition by activist Shiv Prakash Rai, this time at Chief Minister Nitish Kumar’s official residence. In 2011, the Central government had proposed installing a solar plant at the chief minister’s residence and office premises, including at his Janta Darbar. According to documents available with Cobrapost from the Ministry of New and Renewable...

Read more

प्रेस काउंसिल आफ इंडिया ने सूचना प्रसारण मंत्रलाय के सचिव के खिलाफ वारंट जारी कर दिया

14-04-2016 Hits:328 विविध Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

नई दिल्ली : भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) ने एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव सुनील अरोड़ा के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया। पीसीआई ने यह कदम अपने समन पर सोमवार को उनके उपस्थित नहीं होने पर उठाया। सेवानिवृत न्यायाधीश न्यायमूर्ति सी.के. प्रसाद की अध्यक्षता वाली परिषद ने सर्वसम्मति से यह निर्णय किया कि बैठक की अगली तारीख 22 अप्रैल को अरोड़ा उपस्थित हों।

Read more

IS, The State of Islam : A new phenomenon really?

14-04-2016 Hits:110 ये दुनिया Abhinav Shankar - avatar Abhinav Shankar

A million dollar question first Before starting this article let me start with a question. Have anybody wondered why Islamic State has got such an overwhelming support among Muslims around globe which seemed to be missing in case of Al Qaieda ?? More I study Islam more I become clear of the reasons behind this huge success of Islamic State as compared to Al Qaieda. One fundamental fact about Islam is that it is lesser a religious philosophy & more a political ideology. Interconnections between religious and political authority is something that we can find in almost all religions more or...

Read more

दूध विशुद्ध मांसाहारी पेय है!

13-04-2016 Hits:526 ये दुनिया ओशो - avatar ओशो

दूध विशुद्ध मांसाहारी पेय है!

दूध असल में अत्याधिक कामोत्तेजक आहार है और मनुष्य को छोड़कर पृथ्वी पर कोई पशु इतना कामवासना से भरा हुआ नहीं है, और उसका एक कारण दूध है। क्योंकि कोई पशु बचपन के कुछ समय के बाद दूध नहीं पीता, सिर्फ आदमी को छोड़ कर। पशु को जरूरत भी नहीं है। शरीर का काम पूरा हो जाता है। सभी पशु दूध पीते हैं अपनी मां का, लेकिन दूसरों की माताओं का दूध सिर्फ आदमी पीता है, और वह भी आदमी की माताओं का नहीं, जानवरों की माताओं का भी पीता है।

Read more

जानिए, कोई स्त्री किसी पुरुष के पीछे क्यों नहीं भागती

13-04-2016 Hits:473 ये दुनिया ओशो - avatar ओशो

जानिए, कोई स्त्री किसी पुरुष के पीछे क्यों नहीं भागती

तुमने खयाल किया, कोई स्त्री किसी पुरुष के पीछे नहीं भागती। और अगर भागे तो पुरुष फिर बिलकुल ही भाग खड़ा होगा। उस स्त्री से कोई भी पुरुष बचेगा, जो उसका पीछा करे। स्त्री कभी किसी पुरुष से प्रेम का निवेदन भी नहीं करती। पूरी मनुष्य—जाति के इतिहास में किसी स्त्री ने कभी किसी पुरुष से प्रेम—निवेदन नहीं किया। ऐसा नहीं कि स्त्री को प्रेम अनुभव नहीं होता; पुरुष से ज्यादा अनुभव होता है। पुरुष का अनुभव प्रेम का बहुत छोटा है, आंशिक है। स्त्री का अनुभव प्रेम का बहुत बड़ा है और बहुत समग्र है। मगर निवेदन नहीं करती...

Read more

राहुल सांकृत्यायन की जन्मतिथि 9 अप्रैल और पुण्यतिथि 14 अप्रैल : भागो नहीं, दुनिया को बदलो!

13-04-2016 Hits:319 दुख-सुख Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

''जिनका हित इस सामाजिक ढाँचे के ऐसे ही बने रहने में है वे हमें शहीदों और महापुरुषों के विचारों पर ध्यान देने के बजाय उन्हें अवतार बनाकर पूजने की शिक्षा देते हैं, उनके ग्रंथों का अध्ययन करने के बजाय उन्हें मत्था टेकना सिखाते हैं और समाज को बदलने का यत्न करने के बजाय अवतार की प्रतीक्षा करने का उपदेश देते हैं।'' -राहुल सांकृत्यायन राहुल सांकृत्यायन Rahul Sankrityayan (1893-1963) भारत में वैचारिक-सांस्कृतिक क्रान्ति के एक ऐसे सूत्रधार थे जिनका यह अटल विश्वास था कि जनता स्वयं अपने इतिहास का निर्माण करती है। महापुरुष कोई आसमानी जीव नहीं होते बल्कि वे लोग होते...

Read more

कान्हा की नगरी में कर्ज के बोझ तले दबे किसान ने आत्महत्या की

12-04-2016 Hits:97 बिजनेस प्रवीण कुमार सिंह - avatar प्रवीण कुमार सिंह

कान्हा रे, कान्हा अगले जनम मोहे किसान न बनाना -प्रवीण कुमार सिंह- राधे-राधे... ब्रज की होली टीवी पर देखते-देखते हम भी मथुरा पहुंचे, होली देखने के लिए। होली को लेकर मन में बहुत उमंग था क्योंकि होली मेरा सबसे पसन्दीदा त्यौहार है। यहां लोगों ने राधे-राधे बोल के स्वागत किया तो मन बहुत प्रसन्न हुआ। लेकिन हुआ ये कि होली तो बाद में खेली जानी थी, साथियों से पता चला कि यहां के एक युवा किसान ने कर्ज के बोझ तले दबे होने के कारण आत्महत्या कर लिया है। अब साथियों के संग गोबर्धन ब्लाक के बोरपा गांव पहुंचे जहां के 35...

Read more

रामदेव और आसाराम जैसे बाबा मीडिया की देन : महंत नरेंद्र गिरी

12-04-2016 Hits:177 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

उज्जैन। मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में सिंहस्थ कुम्भ के पावन अवसर पर शनिवार को सिंहस्थ और मीडिया की भूमिका पर राष्ट्रीय परिचर्चा का आयोजन हुआ।  अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि मीडिया वास्तव में देश का सचिव है। वही राज्य को सही सूचनायें देता है। मीडिया को निष्पक्ष होना चाहिए, चाटुकार नही वरना देश और समाज का नुकसान होता है। समाचारो में आलोचना भी सकारात्मक रूप में ही आए तो अच्छा हो। आजकल कई ऐसे महात्मा भी आ गए है जो संत नहीं हैं, वे महज मीडिया को मैनेज कर के ही संत बन गए...

Read more

आंबेडकर की धर्मनिरपेक्षता की धरोहर को बिगाड़ रहे संघ परिवार और भाजपा सरकार किस मुंह से उनका गुणगान कर रहे!

11-04-2016 Hits:334 दुख-सुख आनंद तेल्तुम्बडे - avatar आनंद तेल्तुम्बडे

इधर डॉ. आंबेडकर के स्मारकों की बाढ़ सी आ गयी है. आज कल  संघ परिवार डॉ. आंबेडकर जिन्होंने हिन्दू धर्म पर इतनी तीखी टिप्पणियाँ की थी जिस कारण उन्हें अपना कट्टर दुश्मन मानना चाहिए, को हथियाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है. उसी समय  दलितों और गैर दलितों में दूरी बढ़ती जा रही है और उन पर निर्बाध अत्याचार हो रहे हैं. अब इंग्लैंड में बाबा साहेब के नाम पर लन्दन में एक स्मारक होगा. बाबा साहेब 1920 के शुरू में इस घर में रहे थे जब वे लन्दन स्कूल आफ इकोनामिक्स में पढ़ रहे थे. अगस्त के...

Read more

बनारस के सरस्वती फाटक के नीचे सरस्वती कुंड दबा है? उत्खनन प्रारंभ, मेयर ने चलाया पहला फावड़ा

10-04-2016 Hits:310 विविध पदमपति शर्मा - avatar पदमपति शर्मा

बनारस का प्राचीन मोहल्ला सरस्वती फाटक, जिसका नया नाम विश्वनाथ मंदिर गेट नंबर दो हो गया है, यहीं मैं जन्मा-पला-बढ़ा ही नहीं, आधी सदी से ज्यादा समय से यहां मौजूद उद्यान का बैडमिंटन कोर्ट मेरी फिटनेस स्थली भी रहा है. लंबी कहानी है सरस्वती उद्यान और बैडमिंटन की. उसकी फिर कभी चर्चा करूंगा. विक्रम संवत 2073 का आरंभ एक घबराई सी फोन काल के साथ सुबह हुआ, ' जल्दी आइए, विकास प्राधिकरण वाले आए हैं और कोर्ट तोड़ने जा रहे हैं.' घर से सौ मीटर होगा उद्यान सेकेंडों में पहुंच गया. देखता हूं कि कुछ पुरुष - महिला श्रमिकों के...

Read more

नोएडा में जीआईपी से बड़ा माल खुल गया, एमओआई यानि Mall Of India

10-04-2016 Hits:349 मनोरंजन मणिका मोहिनी - avatar मणिका मोहिनी

नोएडा में नया मॉल खुला है, Mall Of India. बहुत बड़ा है, GIP Mall से भी बड़ा. इसमें सारे ब्रैंडेड स्टोर हैं. अभी पूरे स्टोर नहीं खुले हैं, खुल रहे हैं. तीन parking layers हैं. Chili's रेस्टोरेंट एक बड़ी चेन का रेस्टॉरेंट है, जिसमे अमेरिकन खाना मिलता है. कल मनु का जन्मदिन हमने यहाँ डिनर से सेलेब्रेट किया. क्या विस्तार है ! क्या decor है ! क्या ambiance है ! हम 'बार' वाले हिस्से में बैठे थे (नहीं, बार अभी शुरू नहीं हुआ है, may be, waiting for the licence.) उस एक हिस्से में 13 LED (must be 150") साथ-साथ...

Read more

जम्मू-कश्मीर में झंडा राजनीति के बल पर सत्ता में आई भाजपा को यही झंडे ले डूबेंगे!

09-04-2016 Hits:101 प्रदेश सुरेश डुग्गर - avatar सुरेश डुग्गर

जम्मू-कश्मीर में पहली बार सत्ता में आने वाली भाजपा के लिए वही झंडे अब चिंता का कारण बनने लगे हैं जिनके सहारे उसने राज्य की राजनीति में अपना प्रभुत्व जमाया। हालात यह है कि इन झंडों की राजनीति में उसका भविष्य खतरे में नजर आने लगा है। चिंता तो यह भी है कि कहीं ये झंडे उसको ले न डूबें। सबको 1992 की 26 जनवरी याद होगी, जब भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी श्रीनगर के लाल चौक में संगीनों के साए में और कर्फ्यू के हालात में तिरंगा फहराकर वाहवाही लूट चुके हैं, पर अब उसी तिरंगे के...

Read more

दलित राजनीति की समस्याएं और समाधान

09-04-2016 Hits:296 दुख-सुख एस.आर.दारापुरी - avatar एस.आर.दारापुरी

-एस.आर. दारापुरी इधर वर्तमान दलित राजनीति के लिए एक नयी चुनौती खड़ी हुयी है. वह चुनौती है दलित राजनीति के जनक डॉ. आंबेडकर को विभिन्न राजनैतिक पार्टियों द्वारा हथियाए जाने की. इस में भाजपा सब से अधिक सक्रिय है. कांग्रेस भी इसमें बड़ी शिद्दत से लगी हुयी है. समाजवादी पार्टी भी सरकारी तौर पर डॉ. आंबेडकर जयंती के माध्यम से डॉ. आंबेडकर मानने वालों को लुभाने की कोशिश कर रही है. इन पार्टियों का आंबेडकर प्रेम उनका दलितों अथवा डॉ आंबेडकर के प्रति कोई हृदय परिवर्तन नहीं है बल्कि उनके जातिवाद और हिंदुत्व के विरुद्ध संघर्ष की धार को कुंद करने...

Read more

यूपी में भाजपा ने जाति पर लगाया दांव

09-04-2016 Hits:331 प्रदेश प्रभुनाथ शुक्ल - avatar प्रभुनाथ शुक्ल

-प्रभुनाथ शुक्ल राजनीतिक लिहाज से सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की राजनीतिक उथल-पुथल का असर पूरे राष्टीय परिदृश्य पर दिखायी देता है। राजनीति में एक कहावत चर्चित है कि दिल्ली का रास्ता लखनउ से होकर गुजरता है। यानी केंद्र की सत्ता पर झंडा फहराना है तो यूपी की उपेक्षा नहीं की जा सकती है। भाजपा के दिल्ली राजतिलक में इस राज्य की अहम भूमिका रही है। दिल्ली और बिहार में मुंहकी खाने के बाद भाजपा का अगला निशाना यूपी है। क्योंकि राज्य में 2017 में सबसे बड़ा राजनैतिक महासंग्राम होगा। भाजपा ने इसका ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया है।

Read more

दलित राजनीति को चाहिए एक नया रैडिकल विकल्प

09-04-2016 Hits:302 विविध एस.आर.दारापुरी - avatar एस.आर.दारापुरी

-एस.आर. दारापुरी रोहित की दर्दनाक आत्महत्या ने इस भयानक सच्च को उजागर किया है कि आज भी भारत में एक दलित को अपने विचारों और विश्वासों के साथ बराबरी और आज़ादी की चाह के साथ जीने की क्या कीमत चुकानी पड़ सकती है. और फिर उसके लिए न्याय की लड़ाई आज के भारत में कैसे लगभग असंभव है, एक हारी हुयी लड़ाई है.  रोहित देश के किसी गुमनाम दलित बस्ती में नहीं था वर्ना वहां से निकल कर साइब्राबाद के केन्द्रीय विश्वविद्यालय में देश की उच्चतम शिक्षा हासिल कर रहा प्रतिभाशाली नौजवान था. उसकी सांस्थानिक हत्या के खिलाफ देश में चौतरफा...

Read more

कुछ बातें ‘भारत माता की जय’ न बोलने वालों से!

09-04-2016 Hits:132 बिजनेस संजय द्विवेदी - avatar संजय द्विवेदी

-संजय द्विवेदी   देश की आजादी के सात दशक बाद वंदेमातरम् गाएं या न गाएं, ‘भारत माता की जय’ बोलें या न बोलें इस पर छिड़ी बहस ने हमारे राजनीतिक विमर्श की नैतिकता और समझदारी दोनों पर सवाल खड़े कर दिए हैं। आजादी के दीवानों ने जिन नारों को लगाते हुए अपना सर्वस्व निछावर किया, आज वही नारे हमारे सामने सवाल की तरह खड़े हैं। देश की आजादी के इतने वर्षों बाद छिड़ी यह निरर्थक बहस कई तरह के प्रश्न खड़े करती है। यह बात बताती है राजनीति का स्तर इन सालों में कितना गिरा है और उसे अपने राष्ट्रीय स्वाभिमान...

Read more

भक्तगण आहत हैं कि देशभक्तों को झंडा फहराने में पीट दिया गया और उनकी सरकार मौन है

08-04-2016 Hits:363 ये दुनिया संजय कुमार सिंह - avatar संजय कुमार सिंह

ऐसे में ये भक्तगण अपना गुस्सा मीडिया, सेकुलरों और आपियों पर निकाल रहे! Sanjaya Kumar Singh : जिसकी लाठी उसकी भैंस में यही होता है! एनडीटीवी के प्राइमटाइम में आज एनआईटी श्रीनगर का मामला था। वहां जो हुआ इस बारे में जो बताया, सुनाया, दिखाया गया और उससे जो समझ में आया वह यही है कि भारत-पाकिस्तान मैच में पाकिस्तान की हार पर गैर कश्मीरी छात्रों ने कश्मीरी छात्रों को चिढ़ाया और कमेन्ट किया। बदले में, सेमीफाइनल में भारत की हार पर कश्मीरी छात्रों ने उसका बदला लिया। पाकिस्तान का झंडा लहराया। (और यह सब वहां होता रहता है)। इस बार...

Read more

इंडियन एक्सप्रेस की जिस खबर के लिए हर कोई तारीफ कर रहा, वह जनसत्ता में पहले पेज पर नहीं है

06-04-2016 Hits:225 बिजनेस संजय कुमार सिंह - avatar संजय कुमार सिंह

Sanjaya Kumar Singh : इंडियन एक्सप्रेस की जिस खबर के लिए आज हर कोई तारीफ कर रहा है वह जनसत्ता में पहले पेज पर नहीं है।  यह है देश की पत्रकारिता,  आज के मीडिया संस्थान और हिन्दी का सच।  प्रभाष जी के जमाने में एक्सप्रेस की कितनी ही एक्सक्लूसिव,  गोपनीय और धमाकेदार खबरें कैसे-कैसे अनुवाद और कंपोज होकर छपीं हैं (जब डेस्क पर लोगों को पता भी नहीं होता था कि कोई धमाकेदार खबर जा रही है)। 

Read more

अपने भ्रष्ट नेताओं के कारण रो रहा उत्तराखंड, सत्ता में बने रहना इन नेताओं की पहली और आखिरी प्राथमिकता

06-04-2016 Hits:118 प्रदेश प्रयाग पांडे - avatar प्रयाग पांडे

नैनीताल : उत्तराखंड के नेताओं की सत्तालोलुपता और निजी महत्वाकांक्षाओं ने इस पहाड़ी राज्य को राजनीतिक अस्थिरता के भंवर में धकेल दिया है। यहाँ के नेताओं की सत्तालिप्सा के चलते ही आज उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगा है। राज्य की सत्ता हासिल करने की इस अमर्यादित दौड़ में कांग्रेस और भाजपा के बीच जबरदस्त जंग छिड़ी हुई है। सत्ता पाने की इस होड़ में अलग राज्य गठन से जुड़े बुनियादी सवाल पहले ही दरकिनार हो चुके हैं। अब खुदगर्ज नेताओं ने अलग राज्य के सपने को भी चकनाचूर कर  दिया है। उत्तराखंड की आम जनता कांग्रेस और भाजपा के हाथों...

Read more

मोदी जी! दलितों को “स्टैंड-अप-इंडिया” नहीं बल्कि ज़मींन, घर और रोज़गार चाहिए

06-04-2016 Hits:172 ये दुनिया Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

लखनऊ : “मोदी जी! दलितों को “स्टैंड-अप-इंडिया” नहीं बल्कि ज़मीन और रोज़गार चाहिए” यह बात एस.आर. दारापुरी, राष्ट्रीय प्रवक्ता , आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने प्रेस नोट में कही है. उन्होंने कहा है कि 2011 की आर्थिक एवं जाति जनगणना के अनुसार भारत के कुल परिवारों में से 4.42 करोड़ परिवार अनुसूचित जाति/ जन जाति से सम्बन्ध रखते हैं.  इन परिवारों में से केवल 23% अच्छे मकानों में, 2% रहने योग्य मकानों में और 12% जीर्ण शीर्ण मकानों में रहते हैं. इन परिवारों में से 24% परिवार घास फूस, पालीथीन और मिटटी के मकानों में रहते हैं. इन आंकड़ों से...

Read more

डिस्कबरी आफ इटावा : सर्वोत्कृष्ट जैनतीर्थ ‘आसई’

06-04-2016 Hits:291 प्रदेश देवेश शास्त्री - avatar देवेश शास्त्री

गंगा-यमुना के उद्गम (गंगोत्री-यमुनोत्री) से लेकर संगम (प्रयाग) तक फैले इष्टसाध्य इष्टापथ का केन्द्र इष्टिकापुरी (इटावा) जनपद में सूर्य तनया यमुना के उत्तरी तटस्थ दुर्गम करारों के मध्य विस्तृत राज्य था आसई, जिसे जैनतीर्थ आशानगरी नाम से जाना जाता था। यह जैनतीर्थ निश्चित रूप से अन्य तीर्थो से अति सर्वोत्कृष्ट रहा होगा, जिसका प्रमाण यदा-कदा उत्खनन से मात्र जैन तीर्थंकरों की प्रतिमायें मिलना है। आसई के निकटवर्ती ईश्वरीपुरा में मातादीन राजपूत के खेत में खुदाई में सैकड़ों साल पुरानी खंडित जैन तीर्थंकरों की मूर्तियाँ मिली है जिनकी छोटी-बड़ी मिलाकर संख्या लगभग 400 से 500 तक है।

Read more

एक भक्त का पत्र रामदेव के नाम : बाबा जी काले धन को भूल गए तो छोड़िए, व्यवस्था परिवर्तन को तो ना भूलें

06-04-2016 Hits:143 बिजनेस Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

श्री योग गुरु बाबा रामदेव जीहरिद्वार, उत्तराखंड। विषय : बाबा जी काले धन को भूल गए तो छोड़िए, व्यवस्था परिवर्तन को तो ना भूलें पूज्य गुरु जी, कांग्रेस के भ्रष्ट यानी यूपीए-2 के दौरान देश की हालत काफी खराब हो गई थी, लोगों को लग रहा था कि कांग्रेस यू ही लूटती रहेगी, लेकिन उस दौरान आप व श्री अन्ना हजारे जी ने सोए हुए भारतीयों को जगाया। भारत के युवा एकजुट हुए। इस कारण देश में सत्ता परिवर्तन हुआ। इसमें आपका व अन्ना जी का अहम योगदान रहा। बाबा जी उस दौरान आप ने कांग्रेस के कथित नीतियों को उजागर ही नही...

Read more

शकुन्तला (प्रत्यूषा) का दृष्यन्त (राहुल) से गर्भधारण करना और ‘अभिज्ञान शाकुन्तलम्’ की सीख

06-04-2016 Hits:316 दुख-सुख देवेश शास्त्री - avatar देवेश शास्त्री

टीवी कलाकार प्रत्यूषा बनर्जी द्वारा आत्महत्या प्रकरण की कहानी महाकवि कालिदास के नाटक ‘अभिज्ञान शाकुन्तलम्’ से अन्तरंग होते हुए भी काफी भिन्न प्रतीत होती है। इण्टरमीडिएट के संस्कृत विषय में ‘अभिज्ञान शाकुन्तलम्’ का चतुर्थांक है जबकि अधिकांश विश्वविद्यालयों के स्नातक के संस्कृत पाठ्यक्रम में ‘अभिज्ञान शाकुन्तलम्’ है। 30 वर्ष के अध्यापन काल में मैं सदैव ये सवाल करता रहा - ‘‘आखिर इस नाटक के माध्यम से महाकवि कालिदास समाज को क्या संदेश देने चाहते हैं?’’

Read more

उत्तराखंड में ये मेहमान मास्टर क्या करेंगे अब?

06-04-2016 Hits:291 प्रदेश डॉ.वीरेन्द्र बर्त्वाल  - avatar डॉ.वीरेन्द्र बर्त्वाल

उत्तराखण्ड की माध्यमिक शिक्षा को काफी हद तक पटरी पर लाने वाले अतिथि शिक्षकों को उनके कार्य का पुरस्कार देते हुए हटा दिया गया है। शिक्षा और शिक्षकों की इससे बड़ी दुर्दशा नहीं हो सकती। यह सरस्वती और गुरु दोनों का अपमान है। यहां अच्छे कार्यों में नियम आड़े आते हैं, यही बड़ा दुर्भाग्य है। किसी नेता के आदमी को ठेका दिलाना होता तो शायद जीओ एक घण्टे में भी बन जाए। राज्य के माध्यमिक विद्यालयों में एलटी और प्रवक्ताओं की नियुक्ति में देरी के दृष्टिगत सरकार ने इस शिक्षण सत्र के लिए 6214 अतिथि शिक्षक 89 दिनों के लिए...

Read more

इप्टा का14 वाँ राष्ट्रीय सम्मेलन इंदौर में, 75वीं जयंती पटना में

30-03-2016 Hits:219 ये दुनिया Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

इप्टा का 14 वाँ राष्ट्रीय सम्मेलन 2 से 4 अक्टूबर 2016 को मध्यप्रदेश के इंदौर नगर में आयोजित किया जायेगा। मुख्य आयोजन नगर के आनंद मोहन माथुर सभागार में संपन्न होगा, जिसमें देश भर से आने वांले प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। इस आशय का निर्णय विगत दिनों लखनऊ में आयोजित इप्टा की राष्ट्रीय समिति के सचिव-मंडल की बैठक में लिया गया।  राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन सुविख्यात रंगकर्मी-अभिनेता गिरिश कर्नाड अथवा फिल्मकार आनंद पटवर्द्धन करेंगे। अंतिम निर्णय सम्मेलन की तारीखों में उनकी उपलब्धता के आधार पर लिया जा सकेगा।

Read more

आजमगढ़ में मीडिया समग्र मंथन : इलेक्ट्रानिक मीडिया टीआरपी के चक्कर में तथ्यों को भूलती जा रही है

30-03-2016 Hits:228 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

आजमगढ़ : मीडिया समग्र मंथन-2016 के दूसरे दिन पूर्वांचल की पत्रकारिता का राष्ट्रीय महत्व आंचलिक पत्रकारिता के विशेष संदर्भ में एवं मीडिया और सरकारी तंत्र विषयों पर मंथन हुआ। समापन सत्र में विभिन्न क्षेत्रों में विशेष योगदान के लिए विभूतियों को सम्मानित भी किया गया। बतौर मुख्य अतिथि मदन मोहन मालवीय हिन्दी पत्रकारिता संस्थान महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के निदेशक प्रो. ओमप्रकाश सिंह ने कहा कि पूर्वांचल की परम्परा समृद्ध रही है। आज के दौर में राष्ट्रीय मीडिया को पूर्वांचल का अंचल ही दिशा दे सकता है। उन्होंने कहा कि आंचलिक पत्रकारिता की जिम्मेदारी है कि जो समाज से वंचित...

Read more

जाने-माने अफ़सानानिग़ार, नक्काद, शायर और जलेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रो. आफ़ाक़ अहमद का इंतकाल

30-03-2016 Hits:194 दुख-सुख Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

उर्दू के जाने-माने अफ़सानानिग़ार, नक्काद, शायर और जनवादी लेखक संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रो. आफ़ाक़ अहमद का भोपाल में कल देर रात इंतकाल हो गया. आज, 30 मार्च को, दोपहर बाद उन्हें भोपाल के जहांगीराबाद कब्रिस्तान में सुपुर्दे-खाक़ किया गया. प्रो. आफ़ाक़ अहमद मध्यप्रदेश के शिक्षा विभाग से उर्दू प्रोफ़ेसर के पद से सेवानिवृत्त थे. शिक्षक के अलावा वे आल इंडिया अल्लामा इक़बाल अदबी मर्क़ज़ के सचिव और चेयरमैन रहे. मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी के भी वे सचिव रहे, जहां से वे वेतन नहीं लेते थे. ‘पुरज़ोर ख़ामोशी’ (कहानी संग्रह) और ‘अमानते क़ल्बोनज़र’ (आलोचना पुस्तक) उनकी चर्चित किताबें हैं. ‘गज़लीसे इक़बाल’...

Read more

इतने गुस्से में क्यों हैं लोग?

26-03-2016 Hits:103 ये दुनिया संजय द्विवेदी - avatar संजय द्विवेदी

-संजय द्विवेदी    यह कितना निर्मम समय है कि लोग इतने गुस्से से भरे हुए हैं। दिल्ली में डा. पंकज नारंग की जिस तरह पीट-पीट कर हत्या कर दी गयी,वह बात बताती है कि हम कैसा समाज बना रहे हैं। साधारण से वाद-विवाद का ऐसा रूप धारण कर लेना चिंता में डालता है। लोगों में जैसी अधीरता,गुस्सा और तुरंत प्रतिक्रिया देने का अंदाज बढ़ रहा है वह बताता है कि, हमारे समाज को एक गंभीर इलाज की जरूरत है। सोचना यह भी जरूरी है कि क्या कानून का कोई खौफ लोगों के भीतर बचा है या अब सब कानून को हाथ...

Read more

आरक्षण विवाद पर हरियाणा के मुख्यमंत्री को योगेन्द्र यादव का एक रचनात्मक सुझाव

26-03-2016 Hits:235 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

25 मार्च 2016  श्री मनोहर लालमुख्यमंत्री, हरियाणा सरकारचंडीगढ़ विषय : "जाट आरक्षण" के सवाल पर एक रचनात्मक सुझाव आदरणीय मनोहर लाल जी, 1. इस पत्र के माध्यम से मैं आपको प्रदेश के एक महत्वपूर्ण, कठिन और नाजुक सवाल पर अपना सुझाव दे रहा हूं। पिछले दिनों सद्भाव मंच के साथियों के साथ मैंने प्रदेश के सभी हिंसा प्रभावित इलाकों की यात्रा की, सभी पक्षों से बात की। इस यात्रा के अनुभव से मुझे लगता है कि "जाट आरक्षण" के पक्ष और विपक्ष में खड़े लोगों का आग्रह अभी बहुत तीखा है। इस सवाल पर जातीय गोलबंदी हो रही है। प्रदेश में पहले ही...

Read more

अघोराचार्य महाराजश्री बाबा कीनाराम जी की जन्मस्थली-तपोस्थली में अवांछनीय तत्वों की गुंडागर्दी

26-03-2016 Hits:196 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

उत्तर-प्रदेश का एक जिला है ...चंदौली! कभी वाराणसी जिले का हिस्सा रहे इस चंदौली जिले को कृषि-क्षेत्र में "धान का कटोरा" वाला रूतबा हासिल है ! रेलवे-विभाग, इस क्षेत्र के, अति-महत्त्वपूर्ण रेलवे स्टेशन ...."मुग़ल-सराय" पर गर्व करता है! पर धर्म और आध्यात्म की ऊँचाइयों में रुचि व् आस्था रखने वाले लोग, इस जिले के बलुआ थाना-क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले रामगढ़ नामक स्थान को पूजनीय मानते हैं ! कारण....? ये वही जगह है जहां भगवान् शिव के मानव-तन एवं औघड़-परम्परा के आधुनिक स्वरुप के प्रणेता .....अघोराचार्य महाराजश्री बाबा कीनाराम जी ने मानव-तन में इस धरा पर आगमन किया!

Read more

प्राइवेट प्‍लेस में अश्‍लील हरकत करना अपराध नहीं

23-03-2016 Hits:143 विविध Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने कहा- प्राइवेट प्‍लेस में अश्‍लील हरकत करना या इसे देखना आईपीसी की धारा 294 के तहत नहीं आता बॉम्‍बे हाई कोर्ट ने उन 13 लोगों के खिलाफ केस खारिज कर दिए, जिन पर एक फ्लैट में महिलाओं के साथ अश्‍लील हरकत करने के आरोप थे। हाईकोर्ट ने कहा कि निजी जगह पर इस तरह की कृत्‍य आईपीसी के तहत अपराध की श्रेणी में नहीं आता। जस्‍ट‍िस एनएच पाटिल और एएम बदर की बेंच उस याचिका पर सुनवाई की गई थी, जिसमें इन लोगों पर से आईपीसी की धारा 294 के तहत दर्ज की गई एफआईआर को रद्द करने...

Read more

खेलेंगे हम होली : ये जितने भी लोग पानी बचाने का आह्वान करते हैं, सब के सब टब में नहाते हैं!

23-03-2016 Hits:211 मनोरंजन अनुज अग्रवाल  - avatar अनुज अग्रवाल

होली है. पर्यावरण पर बहस छिड़ेगी ही. मीडिया सूखे की तस्वीरें दिखायेगा. बताएगा कि महाराष्ट्र में किसान पानी की कमी वजह से सुसाइड कर रहे हैं. हमको पानी बचाना है. इस बार जो हमने पानी से होली खेली तो धरती पर २/३ की जगह १/१० जगह भाग ही पानी रह जायेगा. फिर "तिलक होली" टाइप कोई नया जुमला उछाला जायेगा. ये भी बताएंगे कि ग्रीन हाउस इफेक्ट भी होली पर पानी बर्बाद करने के कारण हुआ हैय ओजोन में छेद भी होली के ही कारण हुआ है. फिर अपन सब "सूखी होली" खेलेंगे और शाम को थम्स अप, पेप्सी, चढ़ाएंगे...

Read more

दाल के बम्पर उत्पादन के लिए छत्तीसगढ़ को दो करोड़ रुपये का राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार मिला

23-03-2016 Hits:77 प्रदेश अनिल द्विवेदी - avatar अनिल द्विवेदी

अजीब संयोग रहा कि कल जब सारा देश भारत-पाक क्रिकेट मैच में क्रिकेटरों के चौके-छक्कों पर पागल था तब नई दिल्ली में छत्तीसगढ़ के किसान एक नया इतिहास रच रहे थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशभर में दाल के बम्पर उत्पादन के लिए छत्तीसगढ़ को दो करोड़ रूपये के राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार से नवाजा है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह तथा कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने लगातार चौथी बार यह पुरस्कार अपने नाम करते हुए खुशी और भरोसा जताया कि छत्तीसगढ़ अब दाल का कटोरा के रूप में स्थापित हो चुका है।

Read more

उर्दू लेखकों पर लादी गयी अपमानजनक शर्त वापस लो

23-03-2016 Hits:90 दुख-सुख Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

एक साल पहले लिए गए फ़ैसले के अनुसार नेशनल काउंसिल फ़ॉर प्रमोशन ऑफ़ उर्दू लैंग्वेज (NCPUL) ने थोक ख़रीद हेतु वित्तीय मदद के लिए आवेदन करनेवाले उर्दू लेखकों से जो घोषणा-फॉर्म भरवाना शुरू किया है, वह घोर आपत्तिजनक और निंदनीय है. एनसीपीयूएल मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत आनेवाली एक स्वायत्त संस्था है जिसका मुख्य काम उर्दू के प्रचार-प्रसार को बढ़ावा देना है. इसके लिए यह साहित्यिक कृतियों की थोक ख़रीद भी करती है. यह प्रकाशन की सहूलियत के लिए मिलनेवाला एक तरह का वित्त-पोषण है जिसके लिए आवेदन करते हुए अब लेखकों को यह घोषणा करनी है कि उनकी...

Read more

मोदी सरकार गुपचुप कर रही है राम मंदिर बनाने की तैयारी!

23-03-2016 Hits:332 प्रदेश राकेश भदौरिया - avatar राकेश भदौरिया

क्या मोदी सरकार अंदर ही अंदर अयोध्या में राम मंदिर बनाने की तैयारी कर रही है? क्या २०१९ के लोकसभा चुनाव में बीजेपी राम मंदिर के अपने वादे को पूरा करके ही जायेगी? यह सम्भावना उस समय और मजबूत दिखी जब उन्नाव से बीजेपी के सांसद, अयोध्या में विवादित ढांचा विध्वंस के आरोपी और राम जन्म भूमि आंदोलन से जुड़े रहे साक्षी महाराज ने एटा स्थित अपने आश्रम में फिर कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण बीजेपी के एजेंडे में है और हम २०१९ के लोकसभा चुनाव में मंदिर बनाने के बाद ही जायेंगे।

Read more

यह आजादी बेमानी लगती है और भगत सिंह का सपना अधूरा

22-03-2016 Hits:93 दुख-सुख विवेक दत्त मथुरिया - avatar विवेक दत्त मथुरिया

भगत सिंह का सपना और आजादी 23 मार्च को पूरा देश भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को आजादी के लिए उनकी शहादत के लिए याद करता है। बड़ा सवाल यह है कि क्या हम उनकी कुर्बानी के पीछे निहित मकसद को आज तक समझ पाए हैं? बिल्कुल नहीं, क्योंकि भगत सिंह का राजनीति विचार आज उतना ही जोखिम भरा है, जो ब्रिटिश साम्राज्य के दौरान था। देश में मौजूदा लोकतंत्र नव अमेरिकी साम्राज्यवाद का पोषण कर रहा है। और यही कारण है कि लोक और तंत्र के बीच स्पष्ट संघर्ष दैखा जा सकता है। भगत सिंह के राजनीति विचारों की सार्वभौमिकता...

Read more

लगता है संघ महिला पुरुष समानता के विचार से सहमत नहीं!

22-03-2016 Hits:84 विविध अंबरीश कुमार - avatar अंबरीश कुमार

Ambrish Kumar : अपनी सहयोगी रहीं पत्रकार शुभी चंचल ने संघ के बारे में टिपण्णी की है कि शाखा के समय पार्क में उनकी उपस्थिति संघ के बुजुर्ग प्रचारकों को नागवार गुजरी और उन्हें दूर जाने को कहा. ऐसा लगता है कि संघ महिला पुरुष समानता के विचार से सहमत नहीं है. ऐसा क्यों है कि सेना में महिलाएं जा सकती हैं पर संघ में नहीं. संघ के कार्यकर्त्ता राजीव भृगु ने पिछली पोस्ट पर पूछा था कि कितने शब्दों में वे टिपण्णी लिखें. वे पूरा लेख लिख सकते हैं जिसे हम प्रकाशित भी करेंगे. वरिष्ठ पत्रकार और शुक्रवार मैग्जीन के...

Read more

इस आईजी कल्लूरी को केंद्र से शह मिली हुई है

22-03-2016 Hits:99 प्रदेश अंबरीश कुमार - avatar अंबरीश कुमार

Ambrish Kumar : बस्तर के आईजी शिवराम कल्लूरी हैं. अपने साथ इनसे करीब डेढ़ दशक पहले कोरबा में मुठभेड़ हुई थी. मुख्यमंत्री अजीत जोगी वहां बालको के खिलाफ मोर्चा खोलने जा रहे थे. तब जो नेशनल मीडिया कवरेज में गया उसमें इंडियन एक्सप्रेस से मैं था और हिंदू, टाइम्स और पीटीआई के प्रकाश होता भी साथ थे. किसी बात पर हम लोग उखड़ गए तो ये कल्लूरी पहुंचे बीच बचाव के लिए तो सबसे पहले इन्हीं पर गुस्सा निकला. पूछा गया आप कौन हैं, तो बोले एसपी हूँ. फिर कहा गया मुख्यमंत्री दौरे पर हैं और आप सादी वर्दी में...

Read more

भाजपा ने विजय बहुगुणा से हाथ मिलाकर जनता की नाराजगी से भी हाथ मिला दिया

22-03-2016 Hits:122 प्रदेश डॉ.वीरेन्द्र बर्त्वाल - avatar डॉ.वीरेन्द्र बर्त्वाल

चाण-बाणों के चक्कर में फंसे हरीश! डॉ.वीरेन्द्र बर्त्वाल, देहरादून हाल ही का घटनाक्रम हरीश रावत के लिए सबक है। विजय बहुगुणा और हरक सिंह के इस कदम से बहुत आश्चर्य जैसी कोई बात नहीं, क्योंकि इनके राजनीतिक इतिहास और ' उपलब्धियों' को देखकर यही उम्मीद की जा सकती थी,लेकिन एक समय बहुगुणा की तीखी आलोचना करने से न थकने वाली भाजपा ने जो किया, वह जरूर हैरत करने वाला है। हरीश रावत को सियासत का मंझा खिलाडी माना जाता है। वे अच्छे पॉलिटिकल मैनेजर हैं, पर लोग हैरत में हैं कि इस बार एक 'डॉक्टर' ही क्यों 'बीमार' हो गया? आखिर हरीश...

Read more

Several young women reporters abused and physically attacked

19-03-2016 Hits:97 दुख-सुख Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

: Defend Democracy and Women’s Rights Says DUJ : On this March 8, International Women’s Day, the Delhi Union of Journalists and its Gender Council commends with pride the role of women journalists in upholding media rights and freedoms in the face of growing assaults on the freedom of expression. We note with dismay the increasing attacks on the media as well as various sections of our society for exercising the right to debate and dissent. In recent weeks several women journalists have been variously targeted for their work. 

Read more

जागरण कर्मचारियों को मिली बड़ी सफलता, दिल्ली श्रम विभाग ने बर्खास्तगी पर लगाई रोक

19-03-2016 Hits:111 बिजनेस Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

नई दिल्ली/नोएडा। मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों को लागू करने की मांग को लेकर दो साल से संघर्ष कर रहे दैनिक जागरण के कर्मचारियों को बड़ी सफलता मिली है। नई दिल्ली जिले के श्रम न्यायालय ने जागरण कर्मचारियों को बड़ी राहत देते हुए दैनिक जागरण द्वारा कर्मचारियों के लगातार किये जा रहे टर्मिनेशन पर रोक लगा दी है। गौरतलब है कि गत 4 मार्च को कर्मचारियों के पक्ष में फैसला देते हुए नई दिल्ली स्थित जिला श्रम कार्यालय के अधिकारियों ने कर्मचारियों की बर्खास्तगी पर रोक लगाने का आदेश दैनिक जागरण प्रबंधन को दिया था। लेकिन जागरण प्रबंधन ने तानाशाही...

Read more

मीडिया न हो तो ये अफसरशाही आपको जीने नहीं देगी

19-03-2016 Hits:152 दुख-सुख अर्पण जैन "अविचल" - avatar अर्पण जैन "अविचल"

मीडिया से तकलीफ है तो देशव्यापी मीडिया पर रोक लगवायें, मैं आपका साथ दूंगा। पर उससे पहले एक बार मीडियाविहीन जीवन की बस कल्पना मात्र कर लीजिये श्रीमान जी। या अनुभव चाहिए तो एक बार 1947 के पूर्व की पैदाइश अपने दादा-नाना से आजादी के पहले के जीवन के अनुभव साझा जरूर कर लेना। मालूम चल जायेगा कि ये अफसरशाही क्या होती हैं और कैसे काम करती है। नितांत आवश्यक जीवन भी अपने आसपास देख लो एक बार। आपके घर के बाहर की सड़क ना जाने कितनी बार कागजों पर बन कर बिखर जायेगी, आपको पता चलना तो दूर, भनक...

Read more

ब्रज की होली और नारी सशक्तिकरण

19-03-2016 Hits:88 मनोरंजन विवेक दत्त मथुरिया - avatar विवेक दत्त मथुरिया

ब्रज की होली और नारी सशक्तिकरण

कान्हा यानी श्रीकृष्ण का हर वह कर्म जो समाज परिवर्तन की प्रगतिशील चेतना से जुड़ा सरोकार है, जिसे भक्त लीला कहते है। ब्रज में होली की उन्मक्त परंपरा नारी प्रगतिशीलता और सशक्तीकरण से जुड़ा संदेश हैं। जिसे हम सामाजिक रूप से लागू करने में अपने को विफल पाते हैं। होली रूपी नारी स्वतंत्रता और सशक्तिकरण के कृष्ण के संदेश को महज धार्मिक और सांस्कृतिक परंपरा बना रख छोड़ा है। घर की चार दीवारी में कैद रहने वाली ब्रज गोपियों को हाथ में लठ्ठ पकड़ा गोपों के ऊपर प्रहार की प्रेरणा में आत्मरक्षा और आत्म सम्मान का संदेश निहित है। महिलाओं...

Read more

देश की परंपराओं से मुसलमानों को ही मुश्किल क्यों होती है

19-03-2016 Hits:200 सोशल मीडिया Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

Sanjay Tiwari : धार्मिक रूप से देखें तो देश के हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन और ईसाई देश के मुद्दे पर देश के साथ किसी बहस में नहीं है। बहस में हैं सिर्फ मुस्लिम। पहले भी थे, अब भी हैं और आगे भी बहस में बने रहेंगे। वन्देमातरम बोलना हो या भारत माता की जय, तिरंगा फहराना हो या देश के लिए तेवर दिखाना हो किसी गैर मुस्लिम को देश की परंपराओं से कोई आपत्ति नहीं है। न तो उसका मजहब आड़े आता है और न ही मानसिकता। मुश्किल होती है मुसलमान के साथ।

Read more

14 मार्च : पहली बोलती फिल्म आलम आरा के बरक्स

19-03-2016 Hits:83 मनोरंजन मनोज कुमार - avatar मनोज कुमार

हर दिन गुजरने के साथ तारीख बदल जाती है. यह क्रम हमारे जीवन में नित्य चलता रहता है किन्तु कुछ तारीखें बेमिसाल होती हैं. बेमिसाल होने के कारण इन तारीखों को हम शिद्दत से याद करते हैं. भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की ऐसी कई तारीखें हैं जो हमें रोमांचित करती हैं तो आपातकाल की वह तारीख भी हमें भूलने नहीं देती कि किस तरह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर नकेल डाला गया था. इन सबसे इतर यहां पर हम उन बेमिसाल तारीखों का जिक्र कर रहे हैं जिन तारीखों ने हमारे सांस्कृतिक वैभव को लगातार उन्नत किया है. दादा साहेब फाल्के ने...

Read more

Indian-American scientist discovers unique way to eat meat without killing animals

19-03-2016 Hits:78 बिजनेस Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

An Indian-American scientist has developed a new technique to eat meat without killing animals which could help in preventing large-scale slaughter of animals globally. Uma S Valeti’s team has developed contamination-free meat from animal cells in a laboratory that could be harvested in nine to 21 days. “It is sustainable as well as cruelty free,” Valeti, a cardiologist and co-founder of Memphis Meats, told PTI.

Read more

संचार माध्यम के लिए जरूरी किताब ‘कम्युनिटी रेडियो’

19-03-2016 Hits:83 मनोरंजन अनामिका  - avatar अनामिका

संचार माध्यमों का निरंतर विकास हो रहा है और इस विकास के क्रम में सामुदायिक रेडियो का जन्म हुआ. सामुदायिक रेडियो जिसे अंग्रेजी में कम्युनिटी रेडियो पुकारा गया, एक बड़े ही ताकत के रूप में अपनी दुनिया का विस्तार कर रहा है. कम्युनिटी रेडियो दुनिया के संचार माध्यमों में नहीं है किन्तु भारत में अभी यह शैशव अवस्था में है. लगभग एक दशक पहले कम्युनिटी रेडियो को लेकर भारत सरकार ने नीति बनायी. इस नीति के तहत प्रथम चरण में तय किया गया कि कम्युनिटी रेडियो आरंभ करने हेतु लायसेंस शैक्षणिक संस्थाओं को दिया जाए किन्तु इसे और विस्तार देते...

Read more

15 वर्षों तक बिना नहाये-धोये एक जगह पड़े पड़े जीवन गुजार रहे श्किजोफ्रेनिया के मरीज की हालत देख मैं दहल गया

18-03-2016 Hits:148 दुख-सुख वीरेंद्र सिंह - avatar वीरेंद्र सिंह

: इलाज को आगे आये ‘मदद’ के संजीव भोजराज : ताज हेयर सैलून के महेंद्र सिंह और जीजीयू के रोताहश ने उनका हाथ बंटाया : हिसार : सभी लोगों के द्वारा समस्त प्रयोजनों से भुला दिये गये श्किजोफ्रेनिया नामक मानसिक बीमारी से ग्रस्त एक व्यक्ति के लिए मदद नामक संस्था के संजीव भोजराज खुदाई खिदमतगार बनकर आये। उन्होंने पहल करते हुए 18 मार्च शुक्रवार को दोपहर में ताज हेयर सैलून के मालिक महेंद्र सिंह और गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय में क्लर्क काम करने वाले रोताहश की मदद से 15 वर्षों से एक ही जगह के इर्दगिर्द जीवन गुजार देने वाले रामकुमार...

Read more

हम और हमारा राष्ट्रवाद : फकीरी यहां आदर पाती है और सत्ताएं लांछन

18-03-2016 Hits:93 दुख-सुख संजय द्विवेदी - avatar संजय द्विवेदी

देश में इन दिनों राष्ट्रवाद चर्चा और बहस के केंद्र में है। ऐसे में यह जरूरी है कि हम भारतीय राष्ट्रवाद पर एक नई दृष्टि से सोचें और जानें कि आखिर भारतीय भावबोध का राष्ट्रवाद क्या है?‘राष्ट्र’ सामान्य तौर पर सिर्फ भौगोलिक नहीं बल्कि ‘भूगोल-संस्कृति-लोग’ के तीन तत्वों से बनने वाली इकाई है। इन तीन तत्वों से बने राष्ट्र में आखिर सबसे महत्वपूर्ण तत्व कौन सा है? जाहिर तौर पर वह ‘लोग’ ही होगें। इसलिए लोगों की बेहतरी,भलाई, मानवता का स्पंदन ही किसी राष्ट्रवाद का सबसे प्रमुख तत्व होना चाहिए।

Read more

Kerala Govt. to constitute Pension Fund Board for journos, non-journalists

18-03-2016 Hits:100 दुख-सुख Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

Kannur : Kerala minister for Information and Public Relations K C Joseph today said the state government has decided in principle to form a" Pension Fund Board" to give pension to journalists and non-journalists of the state. Speaking after inaugurating the 17th state level conference of Kerala Newspaper Employees Federation (KNEF), here he said presently the pension related work was being carried out by a section of PRD staff for processing and examining the details of applications. This would not be so in future.

Read more

आमजन की परेशानियों पर हावी राष्ट्रप्रेम का बेताल... भारत के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ने इसमें अपना बेहद अविवेकपूर्ण, बेईमान रुख अपनाया...

18-03-2016 Hits:72 विविध शैलेंद्र चौहान - avatar शैलेंद्र चौहान

मौजूदा वक़्त में देश एक गहरे अनुदारवादी और अति-राष्ट्रवादी दौर से गुज़र रहा है. वैचारिक मतभेदों की परवाह किए बिना हर राजनीतिक दल भारत में मूढ़ता को बढ़ावा दे रहा है. राष्ट्रवाद की जो परिभाषा सरकार दे रही है वह संकुचित और रूढ़िवादी है. यह सिर्फ़ बहुसंख्यक धार्मिक समूहों को तुष्ट करने के लिए और असहमति के स्वर दबाने वाला है. अफ़सोस है, राष्ट्रवाद की इतनी संकीर्ण दृष्टि सत्तारूढ़ पार्टी की है. राष्ट्रवाद की उसकी अवधारणा भारतीय संविधान में निहित उदारवादी लोकतांत्रिक मूल्यों को चुनौती देती है. फ्रेंच लेखक अल्बेयर कामू ने एक बार लिखा था, "मैं अपने देश को...

Read more

माल्या और आर्थिक आतंकवाद

18-03-2016 Hits:78 बिजनेस प्रभुनाथ शुक्ल - avatar प्रभुनाथ शुक्ल

आर्थिक घोटाला या दिवालियापन बगैर आर्थिक समावेश के संभव नहीं है। आजादी के बाद घोटालों के चलते देश की अर्थव्यस्था का बड़ा जोखिम उठाना पड़ा है। लेकिन आर्थिक अपराध से जुड़े लचीले कानून के चलते यह अपराध बढ़ता गया और हमारी व्यवस्था ने मौनव्रत धारण रखा। आर्थिक अपराध देश की अर्थ व्यस्था की रीढ़ तोड़ देता है। लेकिन आज तक आर्थिक अपराध के दोषियों को कोई सजा नहीं मिल पायी। जिससे इनका हौसला बढ़ता गया और राजनीतिज्ञ, उद्योगपति, एनजीओ और अर्थ जगत से जुड़े लोग इसका बेजा लाभ उठाते रहे। मुकदमों का अंतहीन सिलसिला और जांच पर जांच चलती रही...

Read more

क्या डॉ. आंबेडकर भी देशद्रोही थे?

18-03-2016 Hits:98 विविध एस.आर.दारापुरी  - avatar एस.आर.दारापुरी

आज कल पूरे देश में देशभक्ति की सुनामी आई हुयी है. कभी वह JNU में देशद्रोहियों को बहा ले जाती है और अब वह महाराष्ट्र के असेम्बली हाल तक पहुँच गयी है जो MIM पार्टी के विधान सभा सदस्य वारिस पठान को बहा ले गयी है क्योंकि उस ने "भारत माता की जय" का नारा लगाने से मना कर दिया था. परिणामस्वरूप उसे भाजपा, कांग्रस और एनसीपी ने मिल कर निलंबित कर दिया. अब सवाल पैदा होता है कि क्या किसी सदस्य द्वारा उक्त नारा लगाना कोई संवैधानिक बाध्यता है? वर्तमान में तो ऐसी कोई भी बाध्यता नहीं है पर...

Read more

DM Bulandshahar selfie case : massive misuse of authority

18-03-2016 Hits:94 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

IPS Amitabh Thakur and activist Nutan Thakurb today went to Bulandshahar to personally enquire into the DM selfie episode where they found definite and blatant misuse of authority by the DM B Chandrakala. They found that the young man Faraz was actually arrested under section 151 CrPC by Kotwali police on 01 February when he had gone to Collectorate but ASI Rajesh Kumar of Kotwali Bulandshahar sent him to jail on 02 Februrary, which gives possibility of 24 hours illegal detention. In addition, the arrest memo of Faraz does not even mention DM selfie episode but talks of a 04...

Read more

सुखदेव न उकसाते तो भगत सिंह के प्रेम और नारी पर इतने अनूठे विचारों से हम सब वंचित रह जाते

18-03-2016 Hits:130 दुख-सुख राजशेखर व्यास - avatar राजशेखर व्यास

खूबसूरत शख्सियत रखने वाला नौजवान, हरदिल अजीज, शहीदों का शहजादा भगतसिंह भी कभी प्रेम करता होगा, ऐसा कोई सोच भी नहीं पाता, सोच भी नहीं सकता। पता नहीं क्यों ‘भगतसिंह’ का नाम लेते और याद आते ही हमारे दिमाग में उनका क्रांतिकारी रूप सामने आता है और हम यह मान लेते हैं कि एक क्रांतिकारी और विशेषकर भगतसिंह का तो प्रेम या नारी से कोई वास्ता नहीं होना चाहिए। दरअसल, ऐसा नहीं है। अमर शहीद भगतसिंह एक बेहद खुशमिजाज, जिंदादिल, मस्त और भोले-भाले भावुक मनुश्य थे, हमेशा गुनगुनाने वाले। वह नौजवान अगर फांसी पर न चढ़ा होता तो संभवतः एक...

Read more

विश्व गौरैया दिवस 20 मार्च पर खास : मेरी यादों में है गौरैया का वह घोंसला

18-03-2016 Hits:213 ये दुनिया प्रभुनाथ शुक्ल - avatar प्रभुनाथ शुक्ल

उस दिन मुझे बेहद खुशी हुई जब गौरैयों का एक जोड़ा फुर्र-फुर्र करता आया और घर के बारामद में एक छोर पर लगे आइने में बार-बार चोंच से हमला कर चींचीं का शोर मचाने लगा। कभी आइने में चोंच मारती तो कभी नीम के पेड़ के नीचे रखी मिट्टी की हंडी में रखे पानी को अपनी चोंचों से निगलती। बच्चों की ओर से गौरैयों से खेलने और विनोद प्रियता के लिए कभी-कभी चावल के दाने आंगन में बिखेर दिए जाते हैं। उसे चूंगने के लिए गौरैयों के कई जोड़े आ धमकते। जैसे उन्हें चावल चूंगने का आमंत्रण दिया गया हो।...

Read more

सूफीमत की ‘रूहानियत’ ही अध्यात्म-विज्ञान

18-03-2016 Hits:65 ये दुनिया देवेश शास्त्री  - avatar देवेश शास्त्री

जब आतंकवाद को सूफीवाद से खत्म किये जाने की बात कही जा रही है, ऐसे में आध्यात्मिक क्रान्ति से कदाचार (अनाचार, अत्याचार, भ्रष्टाचार, व्यभिचारादि) का अंत करने की बात होना, यह सिद्ध करते है कि सूफीमत की रूहानियत ही अध्यात्म-विज्ञान है। यह भी संयोग ‘परवरदिगार’ ने तय किया  ‘‘कदाचार पूर्ण दुर्घर्ष दौर में ‘आर्ट आॅफ लिविंग का विश्व सांस्कृतिक महोत्सव’ एवं ‘विश्व सूफी कांफ्रेंस’  का आयोजन हो’’, यही संयोग रूहानी यानी अध्यात्म ‘‘क्रान्ति’’ के आगाज की ओर इसारा करता है।

Read more

महाकवि देवेन्द्र कुमार बंगाली : सच से गुजरते हुए....

17-03-2016 Hits:72 दुख-सुख विनय श्रीकर - avatar विनय श्रीकर

उन दिनों मैं गोरखपुर के एक साप्ताहिक अखबार का तथाकथित संपादक हुआ करता था। यह बात 1977 की है। अखबार का नाम था पर्यवेक्षक। इसके मालिक थे भारतीय जनता पार्टी के एक जाने-माने नेता के छोटे भाई। यह अखबार बख्शीपुर से निकलता था। अखबार मालिक को पता था कि मैं कम्युनिस्ट विचारों का हूं। मैं अखबार में वही छापता था, जो चाहता था। वह कभी एतराज नहीं करते थे। अखबार के दफ्तर में उस समय के सारे गोरखपुरिया वामपंथी विचरण करते थे। चाय-नाश्ता आफिस के खर्चे से होता था। खैर, प्रसंग कुछ और है।

Read more

विद्याधर द्विवेदी विज्ञ : मुझे दर्द में पल जाने दो...

17-03-2016 Hits:62 दुख-सुख विनय श्रीकर - avatar विनय श्रीकर

विद्याधर द्विवेदी विज्ञ हिन्दी के छायावाद युग के परवर्ती कवियों में अग्रणी हस्ताक्षर थे। बताते हैं कि पंडित सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला' का उन्हें आशिर्वाद प्राप्त था। एक बार निराला जी ने कई प्रतिष्ठित साहित्यकारों की उपस्थिति में उनकी कविताएं सुनीं और कहा कि विज्ञ एक दिन छायावाद युग की विरासत संभालेगा। प्रख्यात हिन्दी आलोचक डाक्टर परमानन्द श्रीवास्तव भी इस बात की ताईद करते थे। गोरखपुर के एक अन्य लेखक और मेरे अनन्य मित्र माताप्रसाद त्रिपाठी ने कुछ दिनों पहले विज्ञ जी की कविताएं यहां-वहां से एकत्र कर संग्रह छपवाया है। इसके लिए उन्होंने काफी श्रम किया है। दुर्भाग्यवश इस संग्रह...

Read more

सपा सरकार के जंगलराज में बलात्कारियों को खुली छूट का नतीजा है काकोरी में बलात्कार पीड़िता का आत्मदाह

13-03-2016 Hits:66 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

लखनऊ : सूबे में बिगड़ती कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, दलित, महिला और अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न के खिलाफ आगामी 16 मार्च को होने वाले जन विकल्प मार्च के एजेण्डे को आम जन तक पहुंचाने के लिए रिहाई मंच व इंसाफ अभियान ने दर्जनों जिले में बैठकें व नुक्कड़ सभाएं की। लखनऊ में इंदिरानगर में नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए इंसाफ अभियान नेता गुंजन सिंह ने कहा कि काकोरी में कक्षा सात की लड़की के साथ लगातार सामूहिक बलात्कार के बाद उसे जिस तरह से आत्मदाह पर विवश होना पड़ा या फिर मुख्यमंत्री आवास के पास स्कूली छात्रा की बलात्कार के...

Read more

रात में जब सोने का टाइम होता है तो मेरा पति लैपटॉप लेकर लेट जाता है!

12-03-2016 Hits:174 सोशल मीडिया संजय तिवारी - avatar संजय तिवारी

Sanjay Tiwari : दिल्ली पुलिस ने एक साल में 12700 ऐसी महिलाओं का काउंसिलिंग करके घर वापस भेज दिया जो पतियों पर महिला उत्पीड़न का केस दर्ज कराने आई थीं। उन्हें शिकायत क्या थी? शिकायत यह थी कि उनके पति फेसबुक का पासवर्ड नहीं बताते। वाट्स एप को लॉक करके रखते हैं। खाने में कमी निकालते हैं। और तो और रात में जब सोने का टाइम होता है तो लैपटॉप लेकर लेट जाते हैं।

Read more

शक्ति को सृजन में लगाएं मोदी, हाथ में आए ऐतिहासिक अवसर का करें राष्ट्रोत्थान के लिए इस्तेमाल

11-03-2016 Hits:68 ये दुनिया संजय द्विवेदी - avatar संजय द्विवेदी

पिछले कुछ दिनों से सार्वजनिक जीवन में जैसी कड़वाहटें, चीख-चिल्लाहटें, शोर-शराबा और आरोप-प्रत्यारोप अपनी जगह बना रहे हैं, उससे हम देश की ऊर्जा को नष्ट होता हुआ ही देख रहे हैं। भाषा की अभद्रता ने जिस तरह मुख्य धारा की राजनीति में अपनी जगह बनाई है, वह चौंकाने वाली है। सवाल यह उठता है कि नरेंद्र मोदी के सत्तासीन होने से दुखीजन अगर आर्तनाद और विलाप कर रहे हैं तो उनकी रूदाली टीम में मोदी समर्थक और भाजपा के संगठन क्यों शामिल हो रहे हैं? वैसे भी जिनको बहुमत मिला है, उन्हें शक्ति पाकर और शालीन व उदार हो जाना...

Read more

माल्य को एक किसान की चिट्ठी : आपने कर्ज लेते हुए डरने वाले हर भारतीय नागरिक का भय खत्म किया है

10-03-2016 Hits:82 ये दुनिया डा. अजित - avatar डा. अजित

अप्रिय विजय माल्या जी,आपका देश से फुर्र होना तो पहले से ही तय था मेरी तरह देश की जनता को आपके डिफाल्टर होने की खबर बहुत दिनों से थी बस ये खबर उन लोगो के लिए कोई खबर नही थी जो आपके जाने के लिए इंतजाम में लगें हुए थे। विदेश जाना कोई बस पकड़कर बगल के शहर में जाना तो है नही वैसे तो आप एनआरआई स्टेट्स में रहकर भारतीयता का लुत्फ़ लूट रहे थे इसलिए हो सकता है आपको वीजा जैसी औपचारिकताओं से न गुजरना पड़ा हो और अगर पड़ा भी हो तो भारत सरकार को इसकी कानोंकान...

Read more

शिव योगी हैं, नशेड़ी नहीं

10-03-2016 Hits:90 विविध अनुज अग्रवाल - avatar अनुज अग्रवाल

शिव योगी हैं, नशेड़ी नहीं

हाल ही में महाशिवरात्रि का पर्व बीत गया| यानि कि भगवान् आशुतोष का दिन| कई मित्रो के मेसेज आये शिवरात्रि की शुभकामनाये प्रेषित करते हुए| सभी का धन्यवाद सभी को शुभकामनायें| रूद्र आप सबकी रक्षा करें| पर मन उस तरह प्रफुल्लित हुआ जिस तरह एक त्यौहार पर होना चाहिए| कारण है कि जितने भी मैसेज आये उनमे से आधे में भगवान् शिव का वर्णन एक नशेड़ी की तरह किया गया|

Read more

ये है यारसा गम्बू उर्फ कीड़ जड़ी, इसे कहते Himalayan Viagra भी कहते हैं

09-03-2016 Hits:144 बिजनेस आकाश शर्मा - avatar आकाश शर्मा

ये है यारसा गम्बू उर्फ कीड़ जड़ी, इसे कहते Himalayan Viagra भी कहते हैं

Akash Sharma : This is यारसा गम्बू / कीड़ जड़ी (half living insect-half plant) famously known as "The Himalayan Viagra" in international market. It is found in the higher altitudes of Himalayan range and is in great demand especially in China. It is used for aphrodisiac purpose there and has a value of around ₹4-₹5khs per Kg.Locals in high altitudes collect this herb and milk great profit. Although it's illegal to cultivate/collect it but the villagers risk it to change their fortune. Himalaya is really the home of so many wonders!!

Read more

मुलायम सिंह के विकास की हकीकत : झाड़ियों में दबा सांसद आदर्श ग्राम का बोर्ड

09-03-2016 Hits:79 प्रदेश Bhadas Desk - avatar Bhadas Desk

मुलायम सिंह के विकास की हकीकत : झाड़ियों में दबा सांसद आदर्श ग्राम का बोर्ड

आजमगढ़ । सपा सरकार के चार साल पूरे होने पर आगामी 16 मार्च को लखनऊ में होने वाले ‘जन विकल्प मार्च’ को सफल बनाने के लिए पूर्वांचल के दौरे के अंतिम चरण में आजमगढ़, बलिया, गाजीपुर, वाराणसी, जौनपुर, सुल्तानपुर, मऊ में बैंठकें व जन सम्पर्क किया गया। इंसाफ अभियान ने कहा कि जो मुलायम सिंह यादव विकास की बात करते हैं उनके दावे को उनके द्वारा गोद लिए सांसद आदर्श ग्राम में झाड़-झंकाड़ में लगा बोर्ड हकीकत बयान करता है।

Read more

सिंहस्‍थ उज्‍जयिनी का अमृत पर्व, जानिए स्कंद पुराण में उल्लखित एक रोचक कथा

09-03-2016 Hits:82 प्रदेश राजशेखर व्‍यास - avatar राजशेखर व्‍यास

-राजशेखर व्‍यास- स्‍कंद पुराण में सिंहस्‍थ के संबंध में एक कथा दी गई है। अमृत मंथन के पश्‍चात् अमृत के कलश से कुछ बूंदें प्रयाग, हरिद्वार,  नासिक, उज्‍जयिनी में छलकीं तभी से यहां पर कुंभ और सिंहस्‍थ पर्व की नींव पड़ी। सिंहस्‍थ पर्व का उज्‍जयिनी से घनिष्‍ठ संबंध है। भारत की प्राचीन महानगरियों में उज्‍जयिनी को अत्‍यन्‍त पवित्र नगरी माना गया है- प्रयाग, नासिक, हरिद्वार, उज्‍जयिनी इन स्‍थानों की पवित्रता और श्रेष्‍ठता यहॉं होने वाले कुंभ अथवा सिंहस्‍थ महापर्व के कारण भी मानी जाती है। कुंभ या सिंहस्‍थ पर्व इन्‍हीं स्‍थानों पर क्‍यों मनाया जाता है? इस संबंध में स्‍कंदपुराण में...

Read more

केवल आदिवासी ही भारत के मूलवासी हैं

08-03-2016 Hits:105 ये दुनिया डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश' - avatar डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'

डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश' हमारे कुछ मित्र दिन-रात "जय मूलनिवासी" और "मूलनिवासी जिंदाबाद" की रट लगाते नहीं थकते। बिना यह जाने और समझे कि मूलनिवासी का मतलब क्या होता है? साथ ही भारत के 85 फीसदी लोगों को भारत के मूलनिवासी घोषित करके, शेष आबादी ब्राह्मण, वैश्य और क्षत्रिय को विदेशी बतलाते हैं। आश्चर्य कि इनमें से बहुत से खुद को तर्क के समर्थक महामानव बुद्ध के अनुयायी भी बतलाते हैं, लेकिन इनको व्यवहार में बुद्ध के तर्क के सिद्धांत से परहेज है। तर्क करने वाला इनको मूर्ख, गद्दार और मनुवादियों का एजेंट नजर आता है। मूलनिवासी का नारा देने वाले...

Read more

एक प्रदेश में बन गया नया नियम : सोशल मीडिया पर नेताओं का मजाक उड़ाने पर जेल

08-03-2016 Hits:103 सोशल मीडिया डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश' - avatar डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'

तमिलनाडु से खबर है कि सोशल मीडिया पर नेताओं का मजाक उड़ाने पर जेल की हवा खानी पड़ सकती है। ऐसा करने वालों के खिलाफ भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के तहत कार्यवाही की जायेगी। कुछ मित्रों को इस खबर के हवाले से यह बोलने और लिखने का मौक़ा मिल सकता है कि यह अभिव्यक्ति की आजादी पर सरकारी हमला है। मैं इससे सहमत नहीं हूँ। सोशल मीडिया पर जिस दिन से जुड़ा था, उसी दिन से मेरा स्पष्ट मत है कि जो कोई भी सोशल मीडिया पर हल्की, अभद्र या स्तरहीन भाषा का इस्तेमाल करे, उसे केवल सजा...

Read more

पतंजलि द्वारा कैंसर का भय दिखाना क्या नैतिक है?

08-03-2016 Hits:103 ये दुनिया डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश' - avatar डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'

-डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'- राजस्थान पत्रिका के जयपुर संस्करण के मुखपृष्ठ पर एक विज्ञापन के शीर्षक ने चौंका दिया। पतंजलि की ओर से जारी विज्ञापन में कहा गया है कि 'आपके खाने के तेल में कैंसर कारक तत्वों की मिलावट तो नहीं—जरा सोचिए' यह 'जरा सोचिये', जरा सी बात नहीं, बल्कि भयानक बात हो सकती है और उपभोक्ताओं के विरुद्ध भयानक षड़यंत्र हो सकता है? लोगों को 'जरा सोचिये' के बहाने ​कैंसर का भय दिखलाकर पतंजलि द्वारा अपना सरसों का तेल परोसा जा रहा है। क्या यह सीधे-सीधे आम और भोले-भाले लोगों को भय दिखाकर अपना तेल खरीदने के लिये मानसिक...

Read more

सर्वाधिक लोकप्रिय पोस्ट

  • 1
  • 2
  • 3
Prev Next

सोनिया गांधी का करोड़ों रुपये का काला धन…

18-06-2011 Hits:22620 ये दुनिया अनिल सिंह - avatar अनिल सिंह

सोनिया गांधी का करोड़ों रुपये का काला धन स्विस बैंक में!

एक स्विस पत्रिका Schweizer Illustrierte की पुरानी रिपोर्ट को आधार माने तो यूपीए अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के अरबों रुपये स्विस बैंक के खाते में जमा है. इस खाते को राजीव...

Read more

'मर्डर-2' के सेक्स सीन देखकर 'मर्डर' को …

09-06-2011 Hits:16104 Uncategorised  - avatar

'मर्डर-2' के सेक्स सीन देखकर 'मर्डर' को भूल जाएंगे!

मर्डर के बाद अब मर्डर-2. जी हां, कुछ साल पहले आयी फिल्म मर्डर ने फिल्म जगत को हिला कर रख दिया. थ्रीलर और रोमांस को सेक्स की चादर में लपेट...

Read more

सोशल मीडिया पर सरकार की वक्र दृष्टि

05-01-2013 Hits:11728 बिजनेस डा. आशीष वशिष्‍ - avatar डा. आशीष वशिष्‍

दामिनी रेप कांड के विरोध में रायसीना हिल्स पर भीड़ के सैलाब ने सरकार और खुफिया तंत्र को हिलाकर रख दिया है। सरकारी मशनीरी हैरत में है कि बिना किसी...

Read more